• Hindi News
  • International
  • Zakir Naik Hindu Remark: Malaysia Government Sent Notice To Fugitive Islamic preacher Zakir Naik, Malaysian Police probe

मलेशिया / हिंदुओं के खिलाफ नफरत वाले बयान पर घिरा जाकिर नाइक, पुलिस करेगी पूछताछ

Zakir Naik Hindu Remark: Malaysia Government Sent Notice To Fugitive Islamic preacher Zakir Naik, Malaysian Police probe
X
Zakir Naik Hindu Remark: Malaysia Government Sent Notice To Fugitive Islamic preacher Zakir Naik, Malaysian Police probe

  • जाकिर ने कहा- मलेशिया में हिंदुओं को भारत के मुस्लिमों से ज्यादा अधिकार
  • सरकार ने इसे बहुसंख्यक मुस्लिम और अल्पसंख्यक हिंदुओं के बीच नफरत वाला बयान माना
  • जाकिर पर भारत में मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद बढ़ावा देने के आरोप, 3 साल पहले विदेश भागा

दैनिक भास्कर

Aug 16, 2019, 12:51 PM IST

कुआलालंपुर. मलेशियाई सरकार ने जाकिर नाइक के नफरत फैलाने वाले बयानों का संज्ञान लेते हुए उसे पूछताछ के लिए बुलाया है। हाल ही में नाइक ने कहा था कि मलेशिया में हिंदुओं को भारत के मुस्लिमों के मुकाबले 100 गुना ज्यादा अधिकार मिले हैं। मलेशिया के गृह मंत्री मुहीद्दीन यासीन ने कहा कि हम इसे नस्लीय भेदभाव और संवेदनशील मामला मानते हैं। लिहाजा पुलिस ने जाकिर को पूछताछ के लिए बुलाया है। 

मलेशिया में हिंदू अल्पसंख्यक समुदाय

मलेशिया की जनसंख्या करीब 3 करोड़ 20 लाख है। इसमें 60% मुसलमान हैं। इसके बाद सर्वाधिक जनसंख्या हिंदुओं की है। यहां की राजनीति और कारोबार में भी हिंदुओं का काफी प्रभाव है। ऐसे में जाकिर का बयान दोनों समुदायों के लिए भड़काऊ माना जा रहा है। 

गृहमंत्री यासीन ने कहा, “मैं सभी पक्षों को याद दिलाना चाहता हूं कि मलेशिया की कानून एजेंसिया सामाजिक सद्भावना और शांति पर खतरा बनने वाले लोगों पर कार्रवाई करने के बारे में बिल्कुल नहीं सोचेंगी।”

मलेशिया के मानव संसाधन विकास मंत्री एम. कुलसेगरन ने जाकिर नाइक को भारत के हवाले करने की मांग की है। मंगलवार को कुलसेगरन ने एक पत्र जारी कर कहा- जाकिर मलेशिया के करदाताओं के पैसे पर यहां मौज कर रहा है। उस पर गंभीर आरोप हैं। वह मलेशिया में नफरत फैलाने की साजिश रच रहा है। उसे भारत को सौंप देना चाहिए। 

मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद पहले नाइक के प्रत्यर्पण से इनकार कर चुके हैं लेकिन अब इस इस्लामिक धर्मगुरू का वहां विरोध तेज हो गया है। महातिर ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए जाकिर को भारत न भेजने की बात कही थी, हालांकि उन्होंने कहा था कि अगर कोई और देश जाकिर को लेना करना चाहता है तो उसका स्वागत है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना