दुनिया की पहली महिला क्रेन ड्राइवर:30 साल की मरियन अल-बाज ने अब मोटर और इंजन के साथ कुछ नया करने का इरादा जताया

सउदी अरब6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मरियन अल-बाज - Dainik Bhaskar
मरियन अल-बाज

मरियन अल-बाज को सउदी अरब में पहली महिला क्रेन ड्राइवर बनने का तमगा मिला है। मरियन सउदी अरब की ही नहीं दुनिया की पहली क्रेन ड्राइवर बन गई हैं। जब वह 13 साल की थीं तभी से उनको मोटर और इंजन की दुनिया से बेहद लगाव शुरू हो गया था।

मरियन के पिता ने अपनी बेटी को आगे बढ़ाया

अरब न्यूज के मुताबिक, मरियन को यह सब विरासत में मिला है। मरियन के पिता ने अपनी बेटी को दरियाह ई-प्रिक्स 2022 में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित किया।

इसी के साथ वह रेस कॉम्पिटिशन में हिस्सा लेने वाली पहली महिला क्रेन ड्राइवर बन गईं। मरियन कहती हैं, 'अभी तक महिलाएं इस क्षेत्र में आने का नहीं सोच सकी है क्योंकि यह पुरुषों के वर्चस्व वाला रहा है। पर मैं भाग्यशाली हूं कि मेरे परिवार में मेरी मां और पिताजी ने मेरे टेलेंट को बढ़ावा दिया, वे मेरी सोच और किसी भी इच्छा को पूरा करने के लिए सपोर्ट करते हैं।'

मुझे कारों से है बेहद प्यार

मरियन ने बताया, 'मेरे पिता मशीनों से प्यार करते हैं, उनके पास एक पुरानी कार है जिसको वे ठीक करते रहते हैं और फिर से ऑपरेशन में लाते हैं। उनके इन कामों पर मेरा ध्यान शुरू से रहा। इसी की वजह से मैंने भी कार मशीन के क्षेत्र में स्किल और नॉलेज बढ़ाई। फिर मैंने कारों की हर प्रदर्शनी और रेस में हिस्सा लेना भी शुरू कर दिया। मुझे कारों से बेहद लगाव है। रेसिंग और ड्रिफ्टिंग का भी मुझे अनुभव है।'

2018 में हटाया गया प्रतिबंध

अल-बाज़ ने याद किया कि महिलाओं के लिए ऐसे अवसर तब सामने आए जब जून 2018 में सउदी अरब में ड्राइविंग प्रतिबंध हटा दिया गया। अब महिलाएं ड्राइविंग ट्रेनर, रेस ड्राइवर और मैकेनिक की भूमिका में काम कर सकती हैं।