फिनलैंड / 80 साल से नवजात के लिए बॉक्स दे रही सरकार, यहां के 95% बच्चों ने अपनी पहली नींद इसी में ली



मैटरनिटी बॉक्स महिलाओं को उनकी प्रेग्नेंसी के चौथे महीने में दिया जाता है। मैटरनिटी बॉक्स महिलाओं को उनकी प्रेग्नेंसी के चौथे महीने में दिया जाता है।
मैटरनिटी बॉक्स के अंदर का सामान। मैटरनिटी बॉक्स के अंदर का सामान।
1947 में दिया जाने वाला मैटरनिटी बॉक्स। 1947 में दिया जाने वाला मैटरनिटी बॉक्स।
X
मैटरनिटी बॉक्स महिलाओं को उनकी प्रेग्नेंसी के चौथे महीने में दिया जाता है।मैटरनिटी बॉक्स महिलाओं को उनकी प्रेग्नेंसी के चौथे महीने में दिया जाता है।
मैटरनिटी बॉक्स के अंदर का सामान।मैटरनिटी बॉक्स के अंदर का सामान।
1947 में दिया जाने वाला मैटरनिटी बॉक्स।1947 में दिया जाने वाला मैटरनिटी बॉक्स।

  • सरकार ने गरीबों के लिए 1938 में बॉक्स देने के योजना शुरू की थी
  • इस बॉक्स में बच्चे की परवरिश के लिए बुनियादी चीजें दी जाती हैं
  • फिनलैंड में नवजात की निम्न मृत्यु दर के पीछे इस बॉक्स की भी अहम भूमिका मानी जाती है

Dainik Bhaskar

Dec 10, 2018, 04:20 PM IST

हेलसिंकी. फिनलैंड की सरकार 80 साल से गर्भवतियों को स्पेशल बॉक्स गिफ्ट कर रही है। इस बॉक्स में नवजात की जरूरत का सामान, कपड़े, शीट और खिलौने होते हैं। महिला चाहे अमीर हो या गरीब, उसे यह बॉक्स दिया जाता है। यह बच्चों की परवरिश के लिए स्टार्टर किट की तरह होता है। एक सर्वे के मुताबिक, फिनलैंड में करीब 95% नवजात अपनी पहली नींद इसी बॉक्स में लेते हैं।

 

इस परंपरा से आता है बराबरी का भाव

सबसे पहले सरकार ने 1938 में कम आय वाले परिवारों को यह मैटरनिटी बॉक्स बांटने शुरू किए। 1949 से हर वर्ग की महिला को यह बॉक्स दिए जाने लगे। दरअसल, सरकार का मानना है कि इसकी वजह से लोगों में बराबरी का भाव आता है। बच्चा चाहे किसी भी पृष्ठभूमि से हो, वह अपनी पहली नींद इसी कार्डबोर्ड के बॉक्स में लेता है।

 

सरकार मां को बॉक्स या इसके बदले 140 यूरो कैश लेने का विकल्प देती है। 95% महिलाएं आमतौर पर बॉक्स को ही चुनती हैं। मैटरनिटी बॉक्स उन गर्भवतियों को दिया जाता है, जिनकी प्रेग्नेंसी के चार महीने पूरे हो गए हों। इसके लिए सभी को म्यूनिसिपल क्लिनिक जाना होता है। 

 

बच्चों की मृत्युदर कम हुई
1930 के आसपास फिनलैंड की गिनती गरीब देशों में होती थी। यहां शिशु मृत्यु दर भी 65 थी। यानी पैदा होने वाले हजार बच्चों में 65 की मौत हो जाती थी। लेकिन, सरकार के मैटरनिटी बॉक्स योजना के कुछ दशकों बाद हालात में काफी सुधार हुआ। 1980 के बाद फिनलैंड में शिशु मृत्यु दर 10 के नीचे ही है।

 

स्टार्टर किट में होती हैं बच्चे की जरूरत की सभी चीजें

बॉक्स में मैट्रेस कवर, अंडरशीट, ब्लैंकेट, स्लीपिंग बैग होता है। इसके अलावा स्नोसूट, हैट, टॉवेल, नेल कटर, हेयर ब्रश, टूथ ब्रश, थर्मामीटर, नैपी और जूते-मोजे भी दिए जाते हैं। बच्चों को खेलने के लिए पिक्चर बुक और कुछ दूसरे खिलौने भी मिलते हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना