तेल चोरी करने के लिए पाइपलाइन के पास खड़े थे लोग, तभी एक ही झटके में 70 से ज्यादा लोगों की चली गई जान / तेल चोरी करने के लिए पाइपलाइन के पास खड़े थे लोग, तभी एक ही झटके में 70 से ज्यादा लोगों की चली गई जान

पाइपलाइन से तेल चुराने के लिए जमा थे सैकड़ों लोग, एक ब्लास्ट में सब कुछ हो गया तबाह

dainikbhaskar.com

Jan 20, 2019, 12:01 PM IST
video video

न्यू मेक्सिको. मेक्सिको (Mexico fuel )में फ्यूल पाइपलाइन में ब्लास्ट के चलते अब तक 71 लोगों की मौत हो गई, जबकि 70 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं। हादसा शुक्रवार की रात हिडाल्गो राज्य में हुआ। गर्वनर उमर फयाद ने बताया कि लोकल लोग पाइपलाइन से तेल चुराने के लिए जमा हुए थे, तभी आग लग गई। हालांकि, अब आग पर काबू पा लिया गया है, लेकिन करीब 80 लोग अब भी लापता बताए जा रहे हैं।

9 साल में सबसे बड़ा हादसा
- मेक्सिको के जनरल प्रॉसीक्यूटर एलेजांद्रो गर्त्ज मानेरो के मुताबिक, शुरुआती जांच में यही माना जा रहा है कि पाइपलाइन के पास जमा लोगों के कपड़ों के चलते इसमें ब्लास्ट हुआ।
- उन्होंने कहा कि पाइप के पास तेल चोरी के लिए बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। इनमें से कुछ लोगों ने सिन्थैटिक फाइबर से बने कपड़े पहन रखे थे। इसी के चलते इलेक्ट्रिक रिएक्शन हुआ।
- घटना के एक चश्मदीद ने बताया कि धमाका इतना जोरदार था कि वहां मौजूद लोग आग का गोला बन अलग-अलग दिशा में जा गिरे और जलकर राख हो गए।

- मेक्सिकन सेक्रेटरी ऑफ पब्लिक सिक्योरिटी अल्फांसो दुराजो ने ट्वीट करते हुए कहा कि पाइपाइन में आग लगने के चलते ही वहां पर ब्लास्ट की घटना हुई।
- वहीं मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, कुछ लोगों ने पाइपलाइन से तेल चुराने के लिए उसमें छेद कर दिया था। रिसाव बढ़ा तो लोगों में रिस रहे तेल को चुराने की होड़ लग गई, तभी धमाका हुआ और आग लग गई।
- अधिकारियों ने बताया कि मैक्सिको में तेल पाइपलाइन में विस्फोट की नौ साल में यह सबसे बड़ा हादसा है। इससे पहले 2010 में पाइपलाइन में विस्फोट के कारण 28 लोग मारे गए थे।

प्रेसिडेंट ने किया घटनास्थल का दौरा
- मेक्सिको के प्रेसिडेंट एंद्रेस मैनुएल लोपेज ओब्राडोर ने शनिवार की सुबह तलाहुलिलपान शहर में घटनास्थल का दौरा भी किया और इस दौरान मीडिया से भी बातचीत की।
- ओब्राडोर ने कहा, "इस अभियान को बंद करने की जगह तेल चोरी के खिलाफ अभियान को तेज किया जाएगा। इस समय सबसे अहम ये है कि घायलों का इलाज किया जाए, ताकि कुछ ज़िंदगियां बचाई जा सकें।
- हादसा ऐसे समय हुआ, जब राष्ट्रपति लोपेज फ्यूल चोरी को लेकर नेशनल लेवल पर अपने प्लान को अंजाम तक पहुंचाने में लगे हुए हैं।
- देश की सबसे बड़ी तेल कंपनी पेमेक्स के मुताबिक, उसकी पाइपलाइनों से बीते साल 21 हजार करोड़ रुपए के पेट्रो उत्पाद चोरी हुए। मेक्सिको में बीते साल टैंकों और पाइपलाइन से ईंधन चोरी होने के 13 हजार से ज्यादा केस दर्ज किए गए थे।

X
videovideo
COMMENT