• Hindi News
  • International
  • Modi Told Biden The Principles Of Gandhi, The Great Chemistry Between The Leaders Of India USA Australia And Japan

10 PHOTOS में क्वॉड समिट और मोदी-बाइडेन मीटिंग:मोदी ने बाइडेन को बताए गांधी के सिद्धांत, भारत-अमेरिका-ऑस्ट्रेलिया और जापान के लीडर्स के बीच दिखी शानदार केमिस्ट्री

25 दिन पहले
सबसे आगे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन हैं, उनके दाहिनी तरफ PM मोदी। उनके पीछे ऑस्ट्रेलियाई PM स्कॉट मॉरिसन और सबसे पीछे जापानी PM योशिहिदे सुगा।

चीन को काउंटर करने के लिए भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने रणनीति मजबूत करनी शुरू कर दी है। शुक्रवार को हुई क्वॉड देशों की मीटिंग में ड्रैगन को सख्त संदेश दिया गया। चारों देश इंडो-पैसिफिक में चीन के दबदबे को रोकने पर सहमत नजर आए। बैठक में वैक्सीन से लेकर जलवायु परिवर्तन और वैश्विक सुरक्षा से लेकर आपसी रिश्ते मजबूत करने पर भी चर्चा हुई।

PM मोदी ने जो बाइडेन से अलग से भी मुलाकात की। मीटिंग में बाइडेन ने मोदी से मजाक में कहा कि जब वे 1972 में सीनेटर चुने गए, तो बाइडेन उपनाम वाले व्यक्ति ने मुंबई से उन्हें चिट्‌ठी भेजी थी। जब उपराष्ट्रपति के रूप में 2013 में वे मुंबई गए तो पूछा गया कि उनका भारत से क्या संबंध है। तब उन्होंने यह घटना बताई। अगले दिन मीडिया ने बताया कि भारत में बाइडेन नाम के 5 लोग रहते हैं। इस दौरे में मोदी कुछ डॉक्यूमेंट लेकर गए थे, जो बाइडेन नाम वाले भारतीय लोगों से संबंधित थे।

यह क्वॉड देशों की ऑफिशियल मीटिंग की फोटो है। बाएं तरफ PM मोदी बैठे हैं, उनके ठीक बगल में US प्रेसिडेंट जो बाइडेन, दाएं तरफ ऑस्ट्रेलियाई PM स्कॉट मॉरिसन हैं, और उनके सामने जापानी PM योशिहिदे सुगा। बाइडेन के पीछे चारों देशों के झंडे भी लगे हुए हैं।
यह क्वॉड देशों की ऑफिशियल मीटिंग की फोटो है। बाएं तरफ PM मोदी बैठे हैं, उनके ठीक बगल में US प्रेसिडेंट जो बाइडेन, दाएं तरफ ऑस्ट्रेलियाई PM स्कॉट मॉरिसन हैं, और उनके सामने जापानी PM योशिहिदे सुगा। बाइडेन के पीछे चारों देशों के झंडे भी लगे हुए हैं।
फोटो में जापान के PM योशिहिदे सुगा क्वॉड को लेकर अपना एजेंडा बता रहे हैं और अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन उन्हें ध्यान से सुन रहे हैं। मीटिंग में सुगा ने कहा कि यह समिट हमारे साझा संबंधों और एक स्वतंत्र हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाती है।
फोटो में जापान के PM योशिहिदे सुगा क्वॉड को लेकर अपना एजेंडा बता रहे हैं और अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन उन्हें ध्यान से सुन रहे हैं। मीटिंग में सुगा ने कहा कि यह समिट हमारे साझा संबंधों और एक स्वतंत्र हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाती है।
PM मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात करने व्हाइट हाउस पहुंचे। बाइडेन 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे। तब प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें फोन पर बधाई दी थी। इसके बाद दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात थी।
PM मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात करने व्हाइट हाउस पहुंचे। बाइडेन 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे। तब प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें फोन पर बधाई दी थी। इसके बाद दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात थी।
शुक्रवार को हुई बातचीत के दौरान बाइडेन ने महात्मा गांधी का भी जिक्र किया। बाद में प्रधानमंत्री ने इसको आगे बढ़ाते हुए कहा कि हम इस प्लेनेट के ट्रस्टी हैं और इसे संभालकर रखना हमारी ही जिम्मेदारी है।
शुक्रवार को हुई बातचीत के दौरान बाइडेन ने महात्मा गांधी का भी जिक्र किया। बाद में प्रधानमंत्री ने इसको आगे बढ़ाते हुए कहा कि हम इस प्लेनेट के ट्रस्टी हैं और इसे संभालकर रखना हमारी ही जिम्मेदारी है।
मोदी और बाइडेन बातचीत के दौरान बिल्कुल सहज नजर आए। 2014 और 2016 में दोनों नेताओं की मुलाकात हो चुकी थी। तब बाइडेन ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन में वाइस प्रेसिडेंट थे। मुलाकात में बाइडेन ने अपनी मुंबई विजिट को याद किया।
मोदी और बाइडेन बातचीत के दौरान बिल्कुल सहज नजर आए। 2014 और 2016 में दोनों नेताओं की मुलाकात हो चुकी थी। तब बाइडेन ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन में वाइस प्रेसिडेंट थे। मुलाकात में बाइडेन ने अपनी मुंबई विजिट को याद किया।
एक-दूसरे की बातों को अच्छी तरह से समझने के लिए दोनों नेताओं ने अपने पास इंटरप्रेटर को बैठा रखा था। बाइडेन अंग्रेजी में बोलते थे। इसे हिंदी में ट्रांसलेट किया जाता था। वहीं, मोदी हिंदी में बोलते थे और उसे अंग्रेजी में ट्रांसलेट किया जाता था।
एक-दूसरे की बातों को अच्छी तरह से समझने के लिए दोनों नेताओं ने अपने पास इंटरप्रेटर को बैठा रखा था। बाइडेन अंग्रेजी में बोलते थे। इसे हिंदी में ट्रांसलेट किया जाता था। वहीं, मोदी हिंदी में बोलते थे और उसे अंग्रेजी में ट्रांसलेट किया जाता था।
प्रेसिडेंट बाइडेन और प्रधानमंत्री मोदी की मीटिंग के दौरान दोनों देशों के टॉप डिप्लोमैट भी मौजूद रहे। भारतीय दल में NSA अजीत डोभाल और विदेश मंत्री जयशंकर भी शामिल थे तो वहीं अमेरिका की तरफ से विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन मौजूद थे।
प्रेसिडेंट बाइडेन और प्रधानमंत्री मोदी की मीटिंग के दौरान दोनों देशों के टॉप डिप्लोमैट भी मौजूद रहे। भारतीय दल में NSA अजीत डोभाल और विदेश मंत्री जयशंकर भी शामिल थे तो वहीं अमेरिका की तरफ से विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन मौजूद थे।
प्रधानमंत्री मोदी ने व्हाइट हाउस में रूजवेल्ट रूम की विजिटर्स बुक पर अपने अनुभव लिखे और फिर उस पर हस्ताक्षर किए। यहां चुनिंदा राष्ट्राध्यक्ष ही आते हैं। विदेश मंत्रालय ने रूजवेल्ट रूम की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की है।
प्रधानमंत्री मोदी ने व्हाइट हाउस में रूजवेल्ट रूम की विजिटर्स बुक पर अपने अनुभव लिखे और फिर उस पर हस्ताक्षर किए। यहां चुनिंदा राष्ट्राध्यक्ष ही आते हैं। विदेश मंत्रालय ने रूजवेल्ट रूम की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने व्हाइट हाउस से बाहर निकलने के बाद वहां पहुंचे भारतीय मूल के लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। मोदी के आगमन से काफी देर पहले से ही व्हाइट हाउस के बाहर लोगों की भीड़ लगनी शुरू हो गई थी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने व्हाइट हाउस से बाहर निकलने के बाद वहां पहुंचे भारतीय मूल के लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। मोदी के आगमन से काफी देर पहले से ही व्हाइट हाउस के बाहर लोगों की भीड़ लगनी शुरू हो गई थी।