--Advertisement--

ऑस्ट्रेलिया / बेघर राहगीर ने आतंकी को ट्रॉली से रोका, घर दिलाने के लिए लोगों ने जुटाए 58 लाख रु.



हमलावर पर ट्राॅली फेंकने वाले माइकल की मदद के लिए 3700 लोग डोनेशन दे चुके हैं। हमलावर पर ट्राॅली फेंकने वाले माइकल की मदद के लिए 3700 लोग डोनेशन दे चुके हैं।
X
हमलावर पर ट्राॅली फेंकने वाले माइकल की मदद के लिए 3700 लोग डोनेशन दे चुके हैं।हमलावर पर ट्राॅली फेंकने वाले माइकल की मदद के लिए 3700 लोग डोनेशन दे चुके हैं।

  • वीडियो वायरल होने के बाद अब तक 3700 लोगों ने माइकल के लिए दिया दान
  • सोशल मीडिया पर लोगों ने उन्हें ट्रॉलीमैन नाम दिया 

Dainik Bhaskar

Nov 12, 2018, 04:16 PM IST

मेलबर्न. भीड़ भरे इलाके में शुक्रवार को एक संदिग्ध आईएस आतंकी ने लोगों पर चाकू से हमला कर दिया था। इस घटना के दौरान एक राहगीर लोगों को बचाने के लिए ट्रॉली लेकर आतंकी से भिड़ गया था। इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है। राहगीर का नाम माइकल रॉजर्स है। लोग उसे 'ट्रॉलीमैन' कहकर हीरो जैसा दर्जा दे रहे हैं। जब लोगों को पता चला कि माइकल बेघर है, तो लोगों ने उसकी मदद के लिए ऑनलाइन फंडिंग अभियान शुरू कर दिया। अब तक माइकल को घर दिलाने के लिए 1 लाख ऑस्ट्रेलियाई डॉलर (करीब 58 लाख रुपए) जुटाए जा चुके हैं।

 

 

 

तीन दिन में लक्ष्य से दो गुनी फंडिंग मिली

  1. करीब 3700 लोगों ने माइकल के लिए डोनेशन दिया है। खास बात यह है कि फंडिंग के लिए 45 हजार डॉलर का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन अब तक इस लक्ष्य से दोगुना ज्यादा तक चंदा जुटाया जा चुका है।

  2. हमलावर ने तीन लोगों को मारा था चाकू

    शुक्रवार शाम मेलबर्न के भीड़ भरे बाजार में एक हमलावर ने चाकू मारकर एक व्यक्ति की जान ले ली और दो अन्य को घायल कर दिया था। वह और लोगों पर हमला कर पाता माइकल ने उसे ट्रॉली से टक्कर मार दी। वायरल वीडियो में माइकल को हमलावर को दौड़ाते देखा जा सकता है।

  3. ऑस्ट्रेलिया के चैनल 7 को दिए इंटरव्यू में माइकल ने बताया, “जब हमलावर हसन अली लोगों को चाकू मार रहा था, तब मैं खुद काफी डर गया था। मुझे अपने पास ही एक ट्रॉली दिखी और मैंने उसे उठाकर हमलावर पर फेंका। मैंने ऐसा कई बार किया, लेकिन किसी तरह वो नीचे गिरने से बच रहा था।”

  4. माइकल का कहना है कि वे कोई हीरो नहीं हैं, लेकिन ट्रॉली की मदद से शायद उन्होंने किसी की जान बचा ली हो। पुलिस की मदद के लिए लोगों ने उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रॉलीमैन नाम दिया है। सोशल मीडिया पर उन्हें हीरो तक कहा जा रहा है। 

  5. आईएसआईएस से प्रभावित था हमलावर

    पुलिस ने हमलावर को रोकने के लिए कई बार वॉर्निंग दी थी। हालांकि, नियंत्रण से बाहर होने के बाद उसे गोली मारनी पड़ी। हमलावर की पहचान 30 वर्षीय हसन अली के तौर पर हुई। जांच में उसके आईएसएस से प्रभावित होने की बात सामने आई। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..