भारतीय राजनयिक अभय कुमार द्वारा लिखित मून एंथम रिलीज, कविता कृष्णमूर्ति ने आवाज दी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी और कवि अभय कुमार।- फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी और कवि अभय कुमार।- फाइल फोटो
  • अभय कुमार भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी हैं और मेडागास्कर में राजदूत हैं
  • उन्होंने अर्थ एंथम लिखी थी, जिसका अभी तक 50 भाषाओं में अनुवाद हो चुका है

अंतानारिवो/मेडागास्कर. भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी और कवि अभय कुमार द्वारा रचित मून एंथम को दिवाली के अवसर पर रिलीज किया गया। इस एंथम को संगीत एल सुब्रह्मण्यम ने जबकि इसे आवाज सुप्रसिद्ध गायिका कविता कृष्णमूर्ति ने दिया है। इस अवसर पर कृष्णमूर्ति ने कहा, “दिवाली अच्छी चीजों और बेहतरीन आयोजन को लाता है इसलिए इस अवसर पर मून एंथम को रिलीज किया गया है। इसकी घोषणा दिवाली के अवसर पर किए जाने से खुशी हो रही है। आप सबको दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं।”
 

अभय कुमार ने सात कविता संग्रह लिखी है
इससे पहले, अभय कुमार ने अर्थ एंथम लिख चुके हैं। इसका अब तक 50 विदेशी भाषाओं में अनुवाद हो चुका है। इस एंथम का अभी तक जुलू, अम्हरिक, मंगोलियन, खासी, स्वाहिली, गेलिक, जोंग्खा, भासा, योरूबा आदि भाषाओं में अनुवाद हुआ है। अभय बिहार के राजगीर के रहनेवाले हैं और वर्तमान में वे मेडागास्कर में भारत के राजदूत हैं। अभय कुमार के अभी तक एक संस्मरण और सात कविताओं का संग्रह प्रकाशित हो चुका है। इसमें द सेडक्शन ऑफ़ देल्ही (2014), द ईट-आइड लॉर्ड ऑफ काठमांडू (2017) और द प्रोफेसी ऑफ ब्रासीलिया (2018) शामिल हैं।
 

कैलाश सत्यार्थी ने एंथम की सराहना की थी
इस एंथम को नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी, दादा साहब फाल्के पुरस्कार विजेता फिल्मकार श्याम बेनेगल और ऑस्कर पुरस्कार विजेता जेफ्फ्री ब्राउन जैसे अंतरराष्ट्रीय शख्सियतों द्वारा सराहा जा चुका है। अभय कुमार ने अर्थ एंथम को नए अंदाज में संगीतबद्ध करने के लिए विश्वभर के कंपोजर्स और म्यूजिशियन्स को आमंत्रित किया है।
 


 

खबरें और भी हैं...