पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चीन से बाहर 24 घंटे में 1000 से ज्यादा मामले सामने आए; चीन में अब तक 2835 की मौत

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लॉस एंजिल्स एयरपोर्ट पर मास्क पहनकर उतरीं कैथे पैसिफिक एयरलाइंस (हॉन्गकॉन्ग) की क्रू मेंबर्स।
  • चीन से बाहर अब तक कोरोनावायरस के 4691 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, 51 देशों में फैला वायरस
  • वायरस से चीन के बाद दक्षिण कोरिया सबसे ज्यादा प्रभावित, यहां अब तक 3150 संक्रमित, 22 मौतें
  • अमेरिकी विदेश विभाग ने शुक्रवार को एडवायजरी जारी कर कहा कि जरूरी न हो तो लोग इटली न जाएं

बीजिंग/मॉस्को/रोम. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चीन से बाहर बीते 24 घंटे में कोरोनावायरस के 1027 नए मामले दर्ज किए हैं। इसी के साथ चीन के बाहर कुल 4691 केस हो गए हैं और वायरस से मरने वालों की संख्या 67 पहुंच गई है। कोरोनावायरस अब तक 51 देशों में पहुंच चुका है। वहीं, चीन में मरने वालों का आंकड़ा 2835 तक पहुंच चुका है और 79 हजार 251 मामलों की पुष्टि हुई है।

कोरोनावायरस से चीन के बाद सबसे ज्यादा दक्षिण कोरिया प्रभावित है। यहां अब तक 3150 संक्रमित पाए गए हैं। देश में दाएगू वायरस का प्रमुख केंद्र है। 90% से ज्यादा नए मामले यहीं पाए गए हैं। दाएगू में तीन महिलाओं की वायरस से मौत हो चुकी है। देश में अब तक 22 मौतें हो चुकी हैं। हालांकि, अफसरों का कहना है कि जिस तरह चीन के वुहान को लॉकडाउन किया गया है, उस तरह दाएगू को अन्य शहरों से अलग-थलग नहीं किया गया है। प्रधानमंत्री चुंग से-क्युन ने अपील की है कि दाएगू में आउटडोर मीटिंग या इंडोर धार्मिक कार्यक्रमों से बचें।

इटली न जाने को लेकर एडवायजरी
अमेरिकी विदेश विभाग ने शुक्रवार को एडवायजरी जारी कर कहा कि जरूरी न हो तो लोग इटली की यात्रा न करें। वहां कोरोनावायरस प्रभावित इलाकों में सीमित स्वास्थ्य सुविधाएं मौजूद हैं। इटली में जर्मनी के बाद सबसे ज्यादा पर्यटक अमेरिका के ही आते हैं। 2018 में इटली में 56 लाख अमेरिकी पर्यटक पहुंचे थे।


वहीं, इटली ने भी अपने लोगों से देश से बाहर न जाने के लिए कहा है। देश के उत्तरी इलाके के करीब 12 शहरों को लॉकडाउन कर दिया गया है। इटली में अब तक कोरोनावायरस के 650 मामले सामने आ चुके हैं और 16 मौतें हो गईं। 

केरल के 10 हजार हज यात्री सऊदी से वीजा मिलने का इंतजार में
कोरोनावायरस के खतरे के चलते सऊदी अरब ने उमरा के लिए आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए वीजा अनिश्चितकाल के रद्द कर दिया है। केरल की हज कमेटी के चेयरमैन सी मुहम्मद फैजी ने बताया कि इस साल 10 हजार से ज्यादा लोगों को हज पर जाने की अनुमति मिल गई है। हमें उम्मीद है कि सऊदी सरकार तीर्थयात्रा के लिए ट्रैवल बैन हटा लेगी। इस साल रमजान के बाद जून से अगस्त के बीच हज के लिए तीर्थयात्री जा सकते हैं।