पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अमेरिका का चीन पर निशाना:विदेश विभाग की प्रवक्‍ता ने कहा- चीन ने हॉन्गकॉन्ग की आजादी खत्म करने के लिए कठोर कदम उठाए

वॉशिंगटन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्‍ता मॉर्गन ऑर्टागस ने कहा- हमने हॉन्गकॉन्ग के अधिकारियों को तीन द्विपक्षीय समझौतों के निलंबन को लेकर 19 अगस्त को सूचित किया। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्‍ता मॉर्गन ऑर्टागस ने कहा- हमने हॉन्गकॉन्ग के अधिकारियों को तीन द्विपक्षीय समझौतों के निलंबन को लेकर 19 अगस्त को सूचित किया। (फाइल फोटो)
  • ‘ट्रम्प ने कहा है कि अमेरिका उनके खिलाफ कार्रवाई करेगा, जिन्होंने हॉन्गकॉन्ग के लोगों की की आजादी को कुचल दिया’
  • ‘चीन ने सिनो-ब्रिटिश संयुक्त घोषणापत्र का उल्लंघन किया, जिसमें कहा गया था कि हॉन्गकॉन्ग में 50 साल तक स्वायत्त क्षेत्र रहेगा’

अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्‍ता मॉर्गन ऑर्टागस ने बुधवार को कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने स्पष्ट रूप से कहा है कि अमेरिका उनके खिलाफ कार्रवाई करेगा, जिन्होंने हॉन्गकॉन्ग के लोगों की आजादी को कुचल दिया है। अमेरिका हॉन्गकॉन्ग को एक देश, एक प्रणाली के रूप में समझेगा।

मॉर्गन ने कहा- चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने हॉन्गकॉन्ग की आजादी खत्म करने के लिए कठोर कदम उठाए हैं। चीन ने सिनो-ब्रिटिश संयुक्त घोषणापत्र के तहत ब्रिटेन को वादा किया था कि हॉन्गकॉन्ग में 50 साल तक स्वायत्त क्षेत्र के नियम लागू रहेंगे।

द्विपक्षीय समझौतों का निलंबन

प्रवक्ता ने कहा कि हमने हॉन्गकॉन्ग के अधिकारियों को तीन द्विपक्षीय समझौतों के निलंबन को लेकर 19 अगस्त को सूचित किया। इन समझौतों में भगोड़े अपराधियों के आत्मसमर्पण, जहाजों के इंटरनेशनल ऑपरेशन से प्राप्त आय पर टैक्स छूट, सजा प्राप्त व्यक्तियों का ट्रांसफर शामिल है।

चीन ने हॉन्गकॉन्ग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू कर वहां के लोगों की आजादी पर हमला किया। हालांकि, चीन ने कहा था कि आतंकवाद और अलगाववाद से निपटने के लिए यह कानून बेहद जरूरी है। 1 जुलाई से हॉन्गकॉन्ग में यह कानून प्रभावी हो गया।

अमेरिका समेत कई देशों ने विरोध किया था

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा था कि हॉन्गकॉन्ग को अब पहले की तरह व्यापार का विशेष दर्जा नहीं मिलेगा। अब यह मुख्य वित्तीय केंद्र नहीं रहेगा। अमेरिका को उम्मीद थी कि हॉन्गकॉन्ग आजादी से काम करके चीन के लिए उदाहरण पेश करेगा। हालांकि, अब यह स्पष्ट हो चुका है कि चीन, हॉन्गकॉन्ग को अपने मॉडल पर ढाल रहा है।

ये भी पढ़ें...

चीन ने विवादित सुरक्षा कानून पास किया:आलोचकों ने कहा- यह कानून हॉन्गकॉन्ग की स्वतंत्रता कमजोर करेगा, ब्रिटेन और अमेरिका समेत कई देशों ने इसका विरोध किया था

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें