• Hindi News
  • International
  • MPs In Britain Will Not Be Able To Come To Parliament Wearing Jeans, Sports Wear, T shirts Or Sleeveless Tops; Clapping Forbidden, Will Not Be Able To Sing Songs

ब्रिटिश सांसदों के पहनावे का नया कोड जारी:ब्रिटेन में सांसद जींस, स्पोर्ट्स वियर, टीशर्ट या स्लीवलेस टॉप पहनकर संसद नहीं आ सकेंगे; ताली बजाने की मनाही

लंदनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांसदों से कहा गया है कि संसद सदस्य के रूप में सेवा देना सौभाग्य की बात है। पहनावे, भाषा, आचरण से यह झलके। - Dainik Bhaskar
सांसदों से कहा गया है कि संसद सदस्य के रूप में सेवा देना सौभाग्य की बात है। पहनावे, भाषा, आचरण से यह झलके।

ब्रिटेन में अब ‘जूम’ पर संसद नहीं चलेगी। गर्मी की छुटि्टयां खत्म होने और कोविड-19 के बाद सोमवार से सभी सांसद सदन लौटेंगे। वे अब देश के मुद्दों और योजनाओं पर रूबरू चर्चा करेंगे। इस बीच, स्पीकर सर लिंडसे हॉयल ने सांसदों के लिए ‘हाउस ऑफ कॉमन्स में व्यवहार और शिष्टाचार के नियम’ अपडेट किए हैं, ताकि कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान दी गई छूट के कारण होने वाली ढिलाई से निपटा जा सके।

दरअसल, हॉयल के पूर्ववर्ती स्पीकर जॉन बर्को ने अिधक उदारवादी नीति अपनाई थी और कहा था कि सांसदों के लिए निश्चित ड्रेस कोड नहीं है। अब सांसदों के लिए पाबंदियां लगाते हुए कहा गया है कि वे सदन में जींस, चिनोज, स्पोर्ट्सवियर, टीशर्ट पहनकर न आएं। पढ़िए सांसदों से और क्या अपेक्षा की गई है:

मर्यादा का पाठ: पुरुष सांसद टाई-जैकेट पहनें, कैजुअल शूज में न आएं

  • सांसद चैंबर में, उसके आसपास व्यावसायिक पहनावा पहनें। जीन्स, चिनोस, स्पोर्ट्सवियर या अन्य ट्राउजर से बचें।
  • टी-शर्ट और स्लीवलेस टॉप व्यावसायिक पोशाक नहीं हैं। पुरुष और महिला सांसद इन्हें न पहनें।
  • सांसद कैजुअल शूज की बजाय उपयुक्त जूते पहनें।
  • पुरुष सांसद टाई पहनें। उन्हें जैकेट भी अवश्य पहननी चाहिए।
  • सांसद स्कार्फ, टीशर्ट या ऐसे बैज न पहने, जिन पर ब्रांड नेम या स्लोगन हों।
  • सदन में जब बहस हो रही हो तो सांसद को पुस्तक या अखबार न पढ़ने की सलाह दी गई है।
  • महिला-पुरुष सांसद चैंबर में झोला, ब्रीफकेस, बड़े हैंडबैग नहीं ला सकेंगे।
  • सांसदों को चैंबर में प्रवेश या बाहर निकलने पर सदन के सम्मान के प्रति चेयर के सामने झुकना होगा।

मोबाइल या इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का प्रयोग भी नहीं
सांसद मोबाइल, अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। ताली भी नहीं बजा सकेंगे। हॉयल का मानना है कि बहस का बहुत सा समय इसी में चला जाता है। वहीं सदन में मौजूद रहते हुए गीत गाने या भजन-कीर्तन की अनुमति नहीं होगी। दरअसल, सितंबर 2019 में लेबर पार्टी के सांसद ने सदन में गाने गाकर विरोध जताया था। इसके बाद कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी थी। इससे बचने के लिए हॉयले ने सदन में गाने या भजन गाने पर पाबंदी लगा दी है।

खबरें और भी हैं...