खालिस्तानी आतंकी के खिलाफ शिकायत:दिल्ली के वकील ने न्यूयॉर्क पुलिस से कहा- गुरपतवंत सिंह पन्नू भारत के खिलाफ जंग की साजिश रच रहा

नई दिल्ली/न्यूयॉर्क5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरपतवंत सिंह पन्नू सिख फॉर जस्टिस का चीफ है। (फाइल) - Dainik Bhaskar
गुरपतवंत सिंह पन्नू सिख फॉर जस्टिस का चीफ है। (फाइल)

दिल्ली के एक वकील ने न्यूयॉर्क पुलिस को लेटर लिखकर सिख फॉर जस्टिस के चीफ गुरपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। वकील विनीत जिंदल ने लेटर में कहा है कि पन्नू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सुप्रीम कोर्ट जस्टिस को धमका रहा है। जिंदल ने कहा कि पन्नू भारत के खिलाफ साजिश रच रहा है और उसकी एकता के लिए खतरे पैदा कर रहा है। विनीत ने मांग की है कि न्यूयॉर्क पुलिस पन्नू और सिख फॉर जस्टिस के खिलाफ कार्रवाई करे।

क्या है लेटर में
जिंदल ने अपनी शिकायती चिट्ठी में लिखा है कि पन्नू और उसका संगठन सिख फॉर जस्टिस भारत के खिलाफ साजिश रच रहे हैं। पत्र के मुताबिक- पन्नू ने हाल ही में सोशल मीडिया के जरिए प्रधानमंत्री को रोकने के लिए 10 लाख डॉलर का ईनाम घोषित किया था। उसने खालिस्तानी आतंकी संगठनों से गणतंत्र दिवस समारोह में बाधा डालने के लिए भी कहा था। उसने कहा था कि दिल्ली में कहीं भी भारत का राष्ट्रध्वज नजर नहीं आना चाहिए। उसने पंजाब विधानसभा चुनाव में भी रुकावट डालने की धमकी दी है। उसका एक वीडियो भी सामने आया, जिसमें वो भारत का राष्ट्रध्वज जलाते नजर आया था।

उसकी हरकतें भारत के लिए खतरा
जिंदल ने न्यूयॉर्क पुलिस को लिखे लेटर के साथ अपने आरोपों के पक्ष में सबूत भी साझा किए हैं। जिंदल ने लिखा- पन्नू और उसका संगठन भारत की प्रभुसत्ता के लिए खतरा हैं। वो भारत के खिलाफ जंग के लिए लोगों को भड़का रहा है। इसके लिए वो लोगों को पैसे का भी लालच दे रहा है। इसके लिए सोशल मीडिया की मदद ली जा रही है। गणतंत्र दिवस भारत का राष्ट्रीय त्योहार है। इस मौके पर वो लोगों को भड़काकर देश के खिलाफ साजिश रच रहा है।

सुप्रीम कोर्ट में भी आया था SFJ का नाम
सिख फॉर जस्टिस खालिस्तान समर्थकों का संगठन है। जिस पर केंद्र सरकार ने पाबंदी लगा रखी है। पिछले दिनों पंजाब में पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा तो केंद्र सरकार ने भी यह मामला उठाया था कि इसमें सिख फॉर जस्टिस संगठन की भूमिका हो सकती है। पंजाब पुलिस को भेजे अग्रिम सुरक्षा संपर्क में भी सिख फॉर जस्टिस से जुड़े खतरे का जिक्र किया गया था

खबरें और भी हैं...