नासा / पहली बार दो महिला अंतरिक्ष यात्रियों ने इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर स्पेसवॉक की



क्रिस्टीना कोच और जेसिका मीर। क्रिस्टीना कोच और जेसिका मीर।
X
क्रिस्टीना कोच और जेसिका मीर।क्रिस्टीना कोच और जेसिका मीर।

  • क्रिस्टीना कोच और जेसिका मीर ने आईएसएस के पावर नेटवर्क के खराब हिस्से को शुक्रवार सुबह ठीक किया
  • ऐसा पहली बार हुआ, जब स्पेसवॉक में केवल महिलाएं ही थीं। उनके साथ कोई पुरुष अंतरिक्ष यात्री नहीं था
  • राष्ट्रपति ट्रम्प ने तारीफ कर बधाई दी, कहा- ऐसे ही हम चांद और फिर मंगल पर जाएंगे

Dainik Bhaskar

Oct 19, 2019, 01:45 PM IST

केप कैनवेरल. अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री क्रिस्टीना कोच और जेसिका मीर पावर ने शुक्रवार को एक साथ स्पेसवॉक कर इतिहास रच दिया। क्रिस्टीना और जेसिका नेटवर्क के खराब हिस्से को ठीक करने के लिए इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन से बाहर निकलीं। ऐसा पहली बार हुआ, जब स्पेसवॉक में केवल महिलाएं ही थीं। उनके साथ कोई पुरुष अंतरिक्ष यात्री नहीं था। यह स्पेसवॉक पहले मार्च में होनी थी, लेकिन मध्यम आकार का कोई सूट न होने की वजह से इसे टालनी पड़ी थी। इलेक्ट्रिकल इंजीनियर कोच ने मिशन और साथी अंतरिक्ष यात्री मीर को लीड किया। मीर मरीन साइंस में डॉक्टरेट हैं और यह उनका पहला स्पेसवॉक है।

 

 

ट्रम्प ने कहा- हमें आप पर गर्व

  1. इस मौके पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कोच और मीर से कहा, ‘‘मैं बस आप दोनों को बधाई देना चाहता हूं। आप दोनों बहुत साहसी और विदुषी हैं। आपने देश का नाम बहुत रोशन किया है। हमें आप पर गर्व है। यह जो आप कर रही हैं वह बहुत अनोखा है। इसी तरह हम पहले चांद और फिर मंगल पर जाएंगे।’’

  2. अमेरिका ने 1983 में अपनी पहली बार महिला अंतरिक्ष यात्री को अंतरिक्ष में भेजा था। अब किसी भी देश के मुकाबले अमेरिका की सबसे अधिक महिला अंतरिक्ष में जा चुकी हैं। हालांकि, पहली महिला अंतरिक्ष यात्री सोवियत संघ की वेलेंटीना तेरेश्कोवा हैं, जिन्होंने 1963 में यह मुकाम हासिल किया था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना