अमेरिका / नासा ने महिलाओं की स्पेसवॉक रद्द की, स्पेससूट का सही साइज न मिलने को वजह बताया



ऐन मैकक्लेन (बाएं) और क्रिस्टीना कोश (दाएं)। ऐन मैकक्लेन (बाएं) और क्रिस्टीना कोश (दाएं)।
X
ऐन मैकक्लेन (बाएं) और क्रिस्टीना कोश (दाएं)।ऐन मैकक्लेन (बाएं) और क्रिस्टीना कोश (दाएं)।

  • स्पेस वॉक के लिए दो महिला एस्ट्रोनॉट्स का चुनाव किया गया है
  • सूट की कमी के चलते नासा इस मिशन में बदलाव करेगा
     

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2019, 12:23 PM IST

वॉशिंगटन. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का पहली बार दो महिलाओं को स्पेसवॉक कराने का मिशन फिलहाल रद्द कर दिया गया है। नासा का कहना है कि उसके पास महिला एस्ट्रोनॉट्स की फिटिंग के पर्याप्त स्पेससूट मौजूद नहीं हैं। ऐसे में आउटरवियर की कमी के चलते यह मिशन बदला जा रहा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्पेसवॉक की योजना को आगे बढ़ाया जाएगा। 

 

एक महीने पहले ही नासा ने ऐलान किया था कि 29 मार्च को उसकी दो महिला एस्ट्रोनॉट्स इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (आईएसएस) से अंतरिक्ष में स्पेसवॉक के लिए जाएंगी। यह पहली बार होगा जब किसी स्पेसवॉक में सिर्फ महिलाओं को ही भेजा जाना है। इससे पहले के मिशनों में स्पेसवॉक के लिए महिलाओं के साथ किसी पुरुष एस्ट्रोनॉट को भी भेजा जाता था। 

 

आईएसएस में बैट्री लगाने के लिए जारी है स्पेसवॉक
स्पेसवॉक कई वजहों से किया जाता है, जिसमें स्पेसक्राफ्ट की मरम्मत, वैज्ञानिक प्रयोग और फिर नए उपकरणों का परीक्षण होता है। अंतरिक्ष में मौजूद बिगड़े सैटेलाइट या स्पेसक्राफ्ट को वहीं ठीक करने के लिए स्पेसवॉक की जाती है। जिन दो एस्ट्रोनॉट्स को स्पेसवॉक में हिस्सा लेना है, उनमें से एक ऐन मैकक्लेन (59) और क्रिस्टीना कोश हैं। मैकक्लेन 22 मार्च को निक हेग के साथ आईएसएस में एक लिथियम आयन बैट्री लगाने के लिए स्पेसवॉक में हिस्सा ले चुकी हैं। 

 

सात घंटे स्पेसवॉक का रखा गया था मिशन
मैकक्लेन और कोश का स्पेसवॉक सात घंटे रखी गई थी। दोनों 2013 के एस्ट्रोनॉट क्लास का हिस्सा थीं। इसमें आधे से ज्यादा महिलाएं थीं। इस दौरान नासा को एस्ट्रोनॉट्स के लिए दूसरी बार सबसे ज्यादा आवेदन (6100) मिले थे। नासा में 50% फ्लाइट डायरेक्टर्स महिलाएं हैं।

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना