नासा ने खींची सोलर फ्लेयर की तस्वीर:सूरज की सतह पर उठा तूफान, इंस्टाग्राम पर वायरल हो रही फोटो

वॉशिंगटन21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सूरज की रोशनी वैसे तो जरूरी होती है लेकिन अगर यही रोशनी जरूरत से ज्यादा हो जाए तो खतरा बन जाती है। नासा ने बुधवार को एक तस्वीर जारी करते हुए बताया कि सूरज पर तेज सोलर फ्लेयर्स यानी सौर तूफान देखने को मिले हैं। सोलर फ्लेयर्स सूरज से अचानक निकलने वाली मैग्नेटिक एनर्जी है। यह अगर सीधा पृथ्वी की तरफ आ जाए तो खतरा बन सकती है।

नासा ने तस्वीर को अपने इंस्टाग्राम हैंडल से शेयर किया है। तस्वीर में ऊपर की दाहिनी ओर सोलर फ्लेयर की चमक देखी जा सकती है। इस तस्वीर को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। अपलोड होने के करीब 9 घंटे के अंदर ही इसे 4.5 लाख से अधिक लाइक्स मिले हैं।

सोलर डाइनैमिक्स ऑब्जर्वेटरी से मिली सफलता

नासा ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम हैंडल से तस्वीर शेयर की है।
नासा ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम हैंडल से तस्वीर शेयर की है।

नासा ने इंस्टाग्राम पर फोटो पोस्ट करते हुए लिखा- सूर्य से पिछले दो हफ्ते में 5 मध्यम, मजबूत और तेज रोशनी वाली सोलर फ्लेयर निकली हैं, बता दें कि सूर्य कभी-कभी ही सोलर फ्लेयर छोड़ता है। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने 19 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सोलर डाइनैमिक्स ऑब्जर्वेटरी का इस्तेमाल करके सोलर फ्लेयर की एक फोटो कैप्चर करने में सफलता हासिल की है। इसमें सूरज को धधकते हुए देखा जा सकता है।

सोलर फ्लेयर्स इंसानों को प्रभावित नहीं करती है
सोलर डाइनैमिक्स ऑब्जर्वेटरी का मुख्य उद्देश्य ये समझना है कि सूरज किस तरह हमारी पृथ्वी और आस-पास के अंतरिक्ष को कैसे प्रभावित करता है। इसका पता लगाने के लिए सूरज की एनर्जी, मैग्नेटिक फील्ड और सतह से निकलने वाली किरणों का रिसर्च किया।

इससे पता चला कि सोलर फ्लेयर्स का इंसानों पर कोई निगेटिव इंपैक्ट नहीं पड़ता है। लेकिन मैग्नेटिक फील्ड को मापने के लिए जिस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हैं, वो इंसानों पर असर डाल सकती है।

नेविगेशन सिस्टम पर असर डाल सकता है
अगर सोलर फ्लेयर कभी पृथ्वी की ओर सीधे आती है, तो बिजली ग्रिड, रेडियो कम्यूनिकेशन, नेविगेशन सिस्टम पर असर डाल सकती है। यहां तक ​​कि किसी भी स्पेस क्राफ्ट की लॉन्चिंग या इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर मौजूद अंतरिक्ष यात्रियों के लिए एक गंभीर खतरा पैदा कर सकती है।