• Hindi News
  • International
  • NASA|Boeing CST 100 Starliner Capsule| International Space Station (ISS)|Russian Module Nauka

अंतरिक्ष में बड़ा हादसा टला:इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन 45 मिनट तक NASA के कंट्रोल से बाहर रहा, रूसी मॉड्यूल में बैकफायर से अपनी जगह से हट गया था

3 महीने पहले

अंतरिक्ष में एस्ट्रोनॉट्स के घर इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS) पर गुरुवार को बड़ा हादसा टला। यह अपनी कक्षा (ऑर्बिट) में जिस जगह फ्लाइट पोजिशन में रहता है वहां से 45 मिनट के लिए हटा रहा। बाद में नासा के कंट्रोल सेंटर्स में मौजूद फ्लाइट टीम ने कंट्रोल थ्रस्टर्स की मदद से स्टेशन को उसकी जगह पर पहुंचाया। उन्होंने बताया कि इस घटना के पीक पर स्टेशन आधा डिग्री प्रति सेकंड की गति से अपनी जगह से हट रहा था।

यह घटना रूसी लैबोरेटरी मॉड्यूल नाउका (Nauka) में तकनीकी खामी की वजह से हुई। नाउका हाल ही में ISS से जुड़ा था। इसके जेट थ्रस्टर्स अपने आप चालू हो गए थे। इसी वजह से ISS अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA के कंट्रोल से बाहर हो गया था। ISS में इस वक्त 7 क्रू मेंबर्स हैं।

NASA ने स्टारलाइनर कैप्सूल की लॉन्चिंग भी टाली
जिस समय यह घटना हुई उसके कुछ देर बाद ही NASA बोइंग CST-100 स्टारलाइनर कैप्सूल की लॉन्चिंग का काउंटडाउन शुरू करने वाला था। इसे भी ISS से जुड़ना था। अब इसकी लॉन्चिंग 3 अगस्त को तय की गई है। किसी कारण से उस दिन भी टली तो 4 अगस्त को की जाएगी। स्टारलाइनर को फ्लोरिडा के कैनेडी स्पेस सेंटर से बोइंग लॉकहीड मार्टिन कॉर्प एटलस वी रॉकेट से लॉन्च किया जाना था।

क्रू को नहीं हुआ कोई खतरा
NASA ने बताया कि स्टेशन पर अभी दो रूसी, तीन अमेरिकी, एक जापानी और एक फ्रेंच एस्ट्रोनॉट हैं। 45 मिनट की घटना के दौरान जमीन पर मौजूद टीम का दो बार क्रू से संपर्क टूटा, लेकिन वह खतरे से बाहर था। इस बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिली है कि नाउका मॉड्यूल के थ्रस्टर्स में क्या खामी आई।