--Advertisement--

गोल्डन ग्लोब रेस / नाव क्षतिग्रस्त होने के 3 दिन बाद नौसेना अफसर अभिलाष को हिंद महासागर से बचाया गया



अभिलाष टॉमी अभिलाष टॉमी
X
अभिलाष टॉमीअभिलाष टॉमी

  • अभिलाष का याट पर्थ से 1900 नॉटिकल मील दूर शनिवार को फंस गया था
  • नौसेना ने उन्हें बचाने के लिए आईएनएस सतपुड़ा को भी रवाना किया
  • एक जुलाई से फ्रांस में शुरू हुई गोल्डन ग्लोब रेस में अभिलाष ने हिस्सा लिया था 

Dainik Bhaskar

Sep 24, 2018, 02:31 PM IST

नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के पास हिंद महासागर में फंसे भारतीय नौसेना के अफसर अभिलाष टॉमी को बचा लिया गया है। उनकी नाव तीन दिन पहले तूफान से टकराने पर क्षतिग्रस्त हो गई थी। रक्षा मंत्रालय और नौसेना ने बताया कि सोमवार को फ्रांस के जहाज ने अभिलाष को रेस्क्यू किया। उन्होंने गोल्डन ग्लोब रेस में हिस्सा लिया था। वे तूफान में फंस गए थे। उन्हें गंभीर चोट आई है।

पर्थ के पास फंसे थे अभिलाष

  1. नौसेना के प्रवक्ता ने बताया कि भारतीय नौसेना ने अभिलाष की याट की सही लोकेशन ढूंढी थी, जो दक्षिणी हिंद महासागर में पर्थ (ऑस्ट्रेलिया) से 1900 नॉटिकल मील दूर थी। इसके बाद फ्रांस के जहाज ओसिरिस ने कमांडर टॉमी को रेस्क्यू किया।

  2. फ्रांस का जहाज अभिलाष को ऑस्ट्रेलिया की नौसेना के जहाज एचएमएएस पर छोड़ेगा। इसके बाद उन्हें पर्थ ले जाएंगे। इससे पहले भारतीय नौसेना के जहाज आईएनएस सतपुड़ा को भी अभिलाष को बचाने के लिए रवाना कर दिया गया था।

  3. 2013 में पहली बार समंदर के रास्ते पूरी दुनिया की सैर करने वाले कमांडर टॉमी अकेले ऐसे भारतीय हैं, जिन्होंने 30 हजार मील की गोल्डन ग्लोब रेस में हिस्सा लिया। उनकी याट 14 मीटर ऊंची समुद्री लहरों के तूफान में फंस गई थी, जिससे अभिलाष की कमर में भी चोट लग गई।

  4. कमांडर अभिलाष टॉमी ने रविवार को भेजे मैसेज में अपनी हिम्मत बयां की थी। उन्होंने कहा था- "मैं घायल जरूर हूं लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी है। समुद्र में उठ रहीं 14 से 20 मीटर ऊंची लहरें मेरी हिम्मत को नहीं तोड़ सकतीं।'

Astrology

Recommended

Click to listen..