चीन / नए कोरोनावायरस से चौथी मौत, इंसानों से भी फैल रहा वायरस; भारत ने चीन के लिए वीसा मांगने वालों की सूची बुलाई

वायरस संक्रमण के कारण चीन के विमानों में भी कड़ी जांच हो रही है। वायरस संक्रमण के कारण चीन के विमानों में भी कड़ी जांच हो रही है।
X
वायरस संक्रमण के कारण चीन के विमानों में भी कड़ी जांच हो रही है।वायरस संक्रमण के कारण चीन के विमानों में भी कड़ी जांच हो रही है।

  • नए कोरोनावायरस से तेज बुखार, ज्यादा थकान, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, भूख में कमी और डायरिया हो सकता है
  • वायरस सार्स जितना खतरनाक, सार्स से चीन-हॉन्गकॉन्ग में 2002 में 8 हजार से ज्यादा संक्रमित हुए थे, 1425 मारे गए थे

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2020, 09:57 AM IST

बीजिंग. चीन में सार्स जैसे वाइरस का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। इसकी वजह से चौथे व्यक्ति की मौत हो गई। जापान-थाईलैंड समेत तीन देशों में यह फैल चुका है। चीन ने इस बात की भी पुष्टि की है कि नया कोरोना वायरस इंसान से इंसानों में फैल रहा है। इसकी चपेट में चीन के कुछ स्वास्थ्यकर्मी भी आए हैं। वुहान में 136 नए मामले सामने आए हैं, कुल मामले 201 हो गए हैं। वहीं भारत में स्वास्थ्य मंत्रालय ने विदेश मंत्रालय से उन लोगों की सूची मांगी है, जिन्होंने 31 दिसंबर तक चीन के वीसा के लिए आवेदन दिए हैं। इन सभी आवेदकों की काउंसलिंग की जाएगी।

21 दिनों में चीन से दक्षिण कोरिया तक फैल गया वायरस

  • 31 दिसंबर 2019: पहला केस मिला। 1 जनवरी को वुहान का सीफूड मार्केट बंद कर दिया गया, यहीं से फैला।
  • 7 जनवरी 2019: स्वास्थ्य अधिकारियों ने इसे नए कोरोनावायरस (एनसीओवी) के तौर पर पहचाना। 
  • 12 जनवरी 2019: डब्ल्यूएचओ ने कहा कि वायरस के इंसान से इंसान में फैलने के कोई सबूत नहीं हैं।
  • 13 जनवरी 2019: थाईलैंड में पहला मामला सामने आया। दूसरा देश, जिसमें यह वायरस फैला
  • 16 जनवरी 2019: जापान में एक मामला सामने आया। टोक्यो समेत सभी एयरपोर्ट पर अलर्ट जारी किया गया।
  • 20 जनवरी 2019: चीन में तीसरी मौत, 139 नए मामले दर्ज। द. कोरिया में भी एक मामला सामने आया।

खतरनाक: सार्स के बाद सातवां वायरस, सार्स से 1425 मौतें हुई थीं

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक यह कोरोनावायरस है। अब तक इनमें से 6 ही खतरनाक थे। यह सार्स जितना ही खतरनाक है। सार्स के कारण चीन-हॉन्गकॉन्ग में 2002 में 8 हजार से ज्यादा संक्रमित हुए थे। 1425 की मौत हो गई थी।
 

क्या नया है: चीन को लग रहा था कंट्रोल कर लेंगे, पर अब मुश्किल

सिर्फ वुहान शहर में 170 लोगों का इलाज चल रहा है, जिनमें से नौ लोगों की स्थिति गंभीर है। चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने इससे पहले कहा था कि इसे कंट्रोल किया जा सकता है। पर अब यह मुश्किल लग रहा है।

लक्षण: सर्दी-जुकाम जैसे नहीं, इसलिए समस्या

यूनिवर्सिटी ऑफ एडिनबर्ग के प्रो. मार्क वूलहाउस का कहना है कि हमने जानने की कोशिश की कि नए वायरस असर ज्यादा क्यों है। तो पता चला कि इसमें सर्दी जैसे लक्षण नहीं है, जो चिंता की बात है।

कहां से आया: पशुओं से इंसानों में पहुंचा, फैल गया

यह नए किस्म का वायरस है। इंसानों को संक्रमित कर लेता है, इस दौरान पता नहीं चलता। नॉटिंघम यूनिवर्सिटी के वायरोलॉजिस्ट जोनाथन बॉल के मुताबिक बहुत हद तक संभव है कि पशुओं से ही इंसानों तक पहुंचा हो।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना