यूक्रेन सीमा के पास रूसी लड़ाकू विमान तैनात:सामने आई नई सैटेलाइट इमेज, कभी भी हो सकता है हमला..

कीवएक वर्ष पहले

एक ओर जहां रूस अपने सैनिकों की वापसी की बात कह रहा है, वहीं दूसरी ओर यूक्रेन की सीमा के आस-पास लगातार रूस की सैन्य गतिविधियां बढ़ती जा रही हैं। रूसी सेना के निर्माण पर नजर रखने वाली अमेरिका की मैक्सार टेक्नोलॉजीज ने नई तस्वीरें जारी की है। इन नई सैटेलाइट तस्वीरों से खुलासा हुआ है कि रूस ने यूक्रेन की सीमा से सटे अपने एक हवाई ठिकाने पर बड़े पैमाने पर लड़ाकू विमानों को तैनात कर रखा है।

सैटेलाइट तस्‍वीरों से पता चला है कि रूस के सभी विमान हमला करने की स्थिति में रखे गए हैं।
सैटेलाइट तस्‍वीरों से पता चला है कि रूस के सभी विमान हमला करने की स्थिति में रखे गए हैं।
बॉर्डर पर रूस ने अपने टैंकों के साथ एयरफोर्स के फाइटर जेट्स भी तैनात कर रखे हैं।
बॉर्डर पर रूस ने अपने टैंकों के साथ एयरफोर्स के फाइटर जेट्स भी तैनात कर रखे हैं।

यहां सैनिकों और बख्तरबंद उपकरणों की तैनाती दिख रही है। इतना ही नहीं बेलारूस, क्रीमिया और पश्चिमी रूस की सीमा पर अभी भी सैन्य गतिविधियां जारी हैं।

सैटेलाइट इमेज में यूक्रेन की सीमा पर रूसी सेना के हेलिकॉप्टर और टैंक्स दिखाई दे रहे हैं।
सैटेलाइट इमेज में यूक्रेन की सीमा पर रूसी सेना के हेलिकॉप्टर और टैंक्स दिखाई दे रहे हैं।

इसके पहले रूस ने कहा था कि वह यूक्रेन पर हमला नहीं करेगा। उसने यूक्रेन बॉर्डर पर तैनात अपने सैनिकों को लौटने का निर्देश दिया है। लेकिन यूक्रेन को रूस की बातों पर विश्वास नहीं है।

बेलारूस में, यूक्रेन के साथ सीमा से 25 किमी से भी कम दूरी पर गोमेल के पास जायाब्रोवका हवाई क्षेत्र में सैनिकों, सैन्य वाहनों और हेलीकॉप्टरों की तैनाती की गई है।
बेलारूस में, यूक्रेन के साथ सीमा से 25 किमी से भी कम दूरी पर गोमेल के पास जायाब्रोवका हवाई क्षेत्र में सैनिकों, सैन्य वाहनों और हेलीकॉप्टरों की तैनाती की गई है।
बॉर्डर पर मौजूद रूस की सेना के टैंकों के साथ आर्टिलरी और सैनिकों की सैटेलाइट तस्वीर।
बॉर्डर पर मौजूद रूस की सेना के टैंकों के साथ आर्टिलरी और सैनिकों की सैटेलाइट तस्वीर।

क्या है मामला
दरअसल रूस चाहता है कि पश्चिम यूक्रेन और अन्य पूर्व सोवियत देशों को उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) से बाहर रखे, अपनी सीमाओं के पास हथियारों की तैनाती को रोके और पूर्वी यूरोप से सेना को वापस बुलाए। राजनयिक वार्ता की विफलता के बाद रूस ने यूक्रेन सीमा पर अपने सैनिकों को तैनात किया। जिसके बाद अमेरिका और उसके सहयोगी देश यूक्रेन पर संभावित रूसी आक्रमण को लेकर अलर्ट हुए। हालांकि, रूस ने किसी भी आक्रमण की योजना से इनकार किया है।

रूस समर्थक अलगाववादी गुट कर रहा यूक्रेन में धमाके
यूक्रेन की सेना का आरोपा है कि पूर्वी यूक्रेन में विद्रोहियों के कब्जे वाले शहर के उत्तर में कई विस्फोटों की आवाज सुनी गई है। यूक्रेनी सेना ने शनिवार को कहा कि उसने पिछले 24 घंटों में 66 मामलों के बाद सुबह पूर्वी यूक्रेन में रूसी समर्थक अलगाववादियों द्वारा 12 संघर्ष विराम उल्लंघन दर्ज किए हैं।

खबरें और भी हैं...