चीन ने हॉन्गकॉन्ग में लोकतंत्र की आवाज को कुचला:एप्पल डेली के आखिरी संस्करण को खरीदने के लिए रात से ही लगने लगीं कतारें, 10 लाख प्रतियां बिकीं

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
समातार पत्र ‘एप्पल डेली’ के प्रकाशन के अंतिम दिन की तस्वीर - Dainik Bhaskar
समातार पत्र ‘एप्पल डेली’ के प्रकाशन के अंतिम दिन की तस्वीर

हॉन्गकॉन्ग का 26 साल पुराना लोकतंत्र समर्थक अखबार ‘एप्पल डेली’ बंद हो गया। गुरुवार को उसने आखिरी एडिशन प्रकाशित किया। अखबार के फ्रंट पेज पर एक स्टाफ के समर्थकों की तरफ हाथ हिलाते हुए फोटो थी और हेडलाइन थी- ‘हॉन्गकॉन्ग निवासियों ने बारिश में दर्द भरा अलविदा कहा।’ वहीं, अखबार को देशभर के लोगों ने भावनात्मक विदाई दी।

लोग बारिश के बीच रात से ही अखबार के दफ्तर के बाहर पहुंचने लगे थे, ताकि स्टाफ का उत्साह बढ़ा सकें। और देखते ही देखते सुबह 8 बजे तक अखबार की 10 लाख प्रतियां बिक गईं। अखबार हर दिन 80 हजार प्रतियां प्रकाशित करता था। अखबार के ग्राफिक्स डिजाइनर डिक्शन एनजी ने कहा- ‘आज हमारा अंतिम दिन और ये आखिरी संस्करण है। इसके खत्म होने के साथ ही यह स्पष्ट हो गया है कि हॉन्गकॉन्ग से प्रेस की स्वतंत्रता खत्म हो रही है।’

खबरें और भी हैं...