पीएनबी घोटाला / भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी की न्यायिक हिरासत 22 अगस्त तक बढ़ी



-फाइल -फाइल
X
-फाइल-फाइल

  • वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में वांड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के माध्यम से सुनवाई शुरू हुई
  • नीरव मोदी की जमानत याचिका पिछले महीने चौथी बार खारिज हुई थी
  • नीरव लंदन की वांड्सवर्थ जेल में है, 19 मार्च को गिरफ्तारी हुई थी

Dainik Bhaskar

Jul 25, 2019, 07:43 PM IST

लंदन. भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी की लंदन में गुरुवार को न्यायिक हिरासत की अवधि 22 अगस्त तक बढ़ा दी गई। वेस्टमिंस्टर अदालत में वांड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के माध्यम से सुनवाई शुरू हुई। 
     
चीफ मजिस्ट्रेट एम्मा अर्बथनॉट ने नीरव की कस्टडी 22 अगस्त तक के लिए बढ़ाने की घोषणा की। अर्बथनॉट ने यह संकेत दिया कि दोनों पक्षों के बीच आपसी सहमति बनने के बाद मई 2020 में पांच दिनों के लिए प्रत्यर्पण सुनवाई की जाएगी। 48 वर्षीय मोदी 19 मार्च से ही दक्षिण-पश्चिम लंदन के वांड्सवर्थ जेल में बंद है। 

 

भारत लगातार प्रत्यर्पण की कोशिश में

उल्लेखनीय है कि नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक को करीब 13 हजार करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप है। फरवरी 2018 में जब पीएनबी घोटाला देश के सामने आया था, तब से नीरव मोदी फरार था। उसके बाद उसे लंदन में गिरफ्तार किया गया। तब से लेकर अब तक उसकी देश में कई करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की जा चुकी है। नीरव के प्रत्यर्पण के लिए भारत निरंतर प्रयास कर रहा है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना