• Hindi News
  • International
  • Nobel Prize Chemistry 2019 Announcements Updates: John B Goodenough, M Stanley Whittingham, and Akira Yoshino

नोबेल 2019 / लीथियम आयन बैटरी के विकास के लिए 3 वैज्ञानिकों को रसायन का पुरस्कार, 97 साल के गुडइनफ सबसे उम्रदराज विजेता



जॉन वी. गुडइनफ, स्टैनली विटिंघम और अकीरा योशिनो। जॉन वी. गुडइनफ, स्टैनली विटिंघम और अकीरा योशिनो।
X
जॉन वी. गुडइनफ, स्टैनली विटिंघम और अकीरा योशिनो।जॉन वी. गुडइनफ, स्टैनली विटिंघम और अकीरा योशिनो।

  • चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के विलियम जी. केलिन जूनियर और ग्रेग एल सेमेन्जा, ब्रिटेन के सर पीटर जे. रैटक्लिफ को दिया जाएगा
  • भौतिकी का नोबेल स्विट्जरलैंड के मिशेल मेयर, दिदिएर क्वेलोज और कनाडाई अमेरिकी जेम्स पीबल्स को मिलेगा

Dainik Bhaskar

Oct 09, 2019, 09:36 PM IST

स्टॉकहोम. रसायन के क्षेत्र में 2019 का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के जॉन वी. गुडइनफ, ब्रिटेन के स्टैनली विटिंघम और जापान के अकीरा योशिनो को दिया जाएगा। तीनों वैज्ञानिकों को लीथियम आयन बैटरी के विकास में अहम भूमिका के लिए चुना गया है। इनके प्रयास से लीथियम आयन बैटरी की क्षमता दोगुनी हुई। अधिक उपयोगी होने से आज यह बैटरी मोबाइल फोन, लैपटॉप और इलेक्ट्रॉनिक वाहनों में इस्तेमाल हो रही है। 97 साल के गुडइनफ यह पुरस्कार पाने वाले सबसे उम्रदराज विजेता होंगे। उनसे पहले पिछले साल 96 साल के आर्थर अश्किन को नोबेल मिला था।

 

पुरस्कार की घोषणा करने वाली जूरी ने कहा, “जॉन बी. गुडइनफ, एम स्टैनली विटिंगघम और अकीरा योशिनो को इस साल के लिए रसायन का नोबेल पुरस्कार दिए जाने से काफी उत्साहित हूं। लीथियम आयन बैटरी ने पोर्टेबल डिवाइस के इतिहास में क्रांतिकारी बदलाव लाया है। यह अगली पीढ़ी के इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के विकास में अहम भूमिका निभाएगा। रसायन के लिए यह पुरस्कार लंबे समय से दिया जा रहा है और इस क्षेत्र को अधिक पहचान मिलने से खुशी होती है।”
 

रसायन के नोबेल पुरस्कार से जुड़े तथ्य

  • 1901 लेकर 2018 तक रसायन में कुल 110 पुरस्कार दिए गए। इनमें 181 लोगों को यह पुरस्कार प्रदान किया गया। 
  • रसायन के लिए 1916, 1917, 1919, 1924, 1933,1940, 1941 और 1942 में इस पुरस्कार की घोषणा नहीं की गई। 
  • रसायन का नोबेल कुल पांच महिलाओं को दिया गया। मैडम मैरी क्यूरी 1911 में यह पुरस्कार जीतीं थी। उन्होंने 1903 में भौतिकी का भी नोबेल हासिल किया था।  
  • रसायन के लिए सबसे युवा पुरस्कार विजेता फ्रेडरिक जोलियट (35) थे, उन्होंने 1935 में अपनी पत्नी इरीन जोलियट क्यूरी के साथ यह पुरस्कार जीता था। 
  • रसायन के लिए सबसे उम्रदराज पुरस्कार विजेता जॉन वी. गुडइनफ बने, इन्हें 2019 के लिए नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया।
  • ब्रिटिश वैज्ञानिक फ्रेडरिक सेंगर को रसायन के लिए दो बार (1958 और 1980) नोबेल से सम्मानित किया गया।

 

मलाला यूसुफजई कम उम्र में नोबेल विजेता बनीं 
मलाला यूसुफजई ने सबसे कम उम्र में नोबेल पुरस्कार हासिल किया। उन्हें 17 साल की उम्र में 2014 में नोबेल शांति पुरस्कार दिया गया था। पाकिस्तान की रहने वाली मलाला सामाजिक कार्यकर्ता है। मलाला को पाकिस्तान में महिलाओं के लिए शिक्षा को अनिवार्य बनाए जाने की मांग के बाद तालिबान की गोली का शिकार होना पड़ा था। इस बार स्वीडन की जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थन्बर्ग को प्रबल दावेदार माना जा रहा है। यदि उनके नाम की घोेषणा होती है तो वह सबसे कम उम्र की विजेता होंगी।

 

51 महिलाएं नोबेल से सम्मानित हो चुकी हैं
1901 से लेकर 2018 तक 51 महिलाएं नोबेल पुरस्कार से सम्मानित हो चुकी हैं। मैडम मैरी क्यूरी को दो बार इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्हें 1903 में भौतिकी और 1911 में  केमिस्ट्री के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार मिला था। इस हिसाब से अब तक 51 महिलाओं को नोबेल पुरस्कार मिला है।

 

शांति के लिए विजेता का चयन नॉर्वे की संसद करती है
रॉयल स्वीडिश अकैडमी ऑफ साइंसेज भौतिकी, रसायन और अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार विजेताओं का चयन करती है। कैरोलिन इंस्टीट्यूट, स्टॉकहोम, स्वीडन में नोबेल असेंबली मेडिसिन के क्षेत्र में विजेताओं के नाम की घोषणा करती है। साहित्य के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार स्वीडिश अकादमी स्टॉकहोम, स्वीडन द्वारा दिया जाता है और शांति का नोबेल पुरस्कार नॉर्वे की संसद द्वारा चुनी गई समिति देती है।
 

क्यों दिया जाता है नोबेल पुरस्कार?
अल्फ्रेड नोबेल का जन्म स्वीडन में 21 अक्टूबर 1833 को हुआ था। अल्फ्रेड रसायनशात्री और इंजीनियर थे। 10 दिसंबर 1896 को इटली के सौन रेमो में अल्फ्रेड नोबेल का निधन हुआ। युद्ध में भारी तबाही मचाने वाले अपने अविष्कारों को लेकर अल्फ्रेड नोबेल भारी पश्चाताप था। इसलिए उन्होंने अपनी पूरी संपत्ति का इस्तेमाल मानव हित के लिए किए गए आविष्कारों में करने का फैसला लिया और नोबेल फाउंडेशन की स्थापना की। उन्होंने अपनी वसीयत में हर साल भौतिकी, रसायन, चिकित्सा, साहित्य और शांति के क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वालों को पुरस्कार देने की घोषणा की।

 

नोबेल पुरस्कार में क्या मिलता है?

नोबेल पुरस्कार के हर विजेता को करीब साढ़े चार करोड़ रुपए की राशि दी जाती है। इसके साथ 23 कैरेट सोने से बना 200 ग्राम का पदक और प्रशस्ति पत्र भी दिया जाता है। पदक के एक ओर नोबेल पुरस्कार के जनक अल्फ्रेड नोबेल की छवि, उनके जन्म तथा मृत्यु की तारीख लिखी होती है। पदक की दूसरी तरफ यूनानी देवी आइसिस का चित्र, रॉयल एकेडमी ऑफ साइंस स्टॉकहोम तथा पुरस्कार पाने वाले व्यक्ति की जानकारी होती है। 

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना