नॉर्थ कोरिया ने दागीं 2 मिसाइलें:US, जापान और साउथ कोरिया की ज्वॉइंट मिलिट्री ड्रिल के बीच मिसाइल टेस्ट किया; एक हफ्ते में चौथा परीक्षण

प्योंगयांग/टोक्यो/सियोल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नॉर्थ कोरिया ने शनिवार सुबह, यानी आज एक बार फिर बैलिस्टिक मिसाइल का परिक्षण किया। साउथ कोरिया आर्मी ने इसकी जानकारी दी है। उसने एक बयान में कहा- नार्थ कोरिया ने प्योंगयांग के सुनान क्षेत्र से ईस्ट सी में दो मिसाइलें दागी हैं। ईस्ट सी को सी ऑफ जापान भी कहा जाता है। जापान आर्मी ने भी इसकी पुष्टि की है।

एक ही हफ्ते में ये चौथा मिसाइल टेस्ट है। इसके पहले 25 सितंबर, 28-29 सितंबर को एक-एक मिसाइल दागी गई थीं। ये टेस्टिंग अमेरिका, जापान और साउथ कोरिया की ज्वॉइंट मिलिट्री एक्सरसाइज के बीच और अमेरिकी वाइस-प्रेसिडेंट कमला हैरिस की विजिट के बाद की गई है। पांच साल में पहली बार इस क्षेत्र में तीनों देश मिलिट्री ड्रिल कर रहे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस परीक्षण की वजह साउथ कोरिया और अमेरिका के नजदीकी रिश्ते हैं।

खबर को आगे पढ़ने से पहले नीचे दिए गए पोल में शामिल होकर अपनी राय दें...

नॉर्थ कोरिया से खतरे को देखते हुए दक्षिण कोरिया की मदद के लिए वहां लगभग 28,500 अमेरिकी सैनिक तैनात हैं।
नॉर्थ कोरिया से खतरे को देखते हुए दक्षिण कोरिया की मदद के लिए वहां लगभग 28,500 अमेरिकी सैनिक तैनात हैं।

हैरिस के US रवाना होने के तुरंत बाद मिसाइल दागी थी
कमला हैरिस 28 सितंबर को साउथ कोरिया की राजधानी सियोल पहुंची थीं। यहां से वो उस जगह गईं जिसे DMZ या डीमिलिट्राइज जोन कहते हैं। यह वो जगह है, जहां नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया की सीमाएं मिलती हैं। यहां से नॉर्थ कोरिया की बॉर्डर महज 50 मीटर दूर है। बॉर्डर पर एक हिस्सा ऐसा है, जहां नॉर्थ और साउथ कोरिया के आर्मी अफसरों के छोटे-छोटे केबिन बने हुए हैं। उन्होंने साउथ कोरिया के सैनिकों से मुलाकात भी की थी। 29 सितंबर को हैरिस के अमेरिका रवाना होने के तुरंत बाद भी नॉर्थ कोरिया ने मिसाइल का परीक्षण किया था।

कमला हैरिस के दौरे के बाद दोनों देशों के बीच बढ़ा तनाव
दक्षिण कोरिया के जॉइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने कहा- हाल ही में नॉर्थ और साउथ कोरिया के बीच तनाव बढ़ गया है। US प्रेसिडेंट हैरिस के साउथ कोरिया दौरे के बाद 2 बार मिसाइलें दागी गईं। कोरिया ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN सिक्योरिटी कॉउंसल) के कानून का उल्लंघन किया है। इससे दोनों देश के बीच तनाव बढ़ रहा है।

कमला हैरिस की विजिट से पहले अमेरिका ने एयरक्राफ्ट कैरियर USS रोनाल्ड रीगन को दक्षिण कोरिया के साथ मिलिट्री एक्सरसाइज करने के लिए रवाना किया था।
कमला हैरिस की विजिट से पहले अमेरिका ने एयरक्राफ्ट कैरियर USS रोनाल्ड रीगन को दक्षिण कोरिया के साथ मिलिट्री एक्सरसाइज करने के लिए रवाना किया था।

प्रतिबंध के बावजूद मिसाइल टेस्टिंग कर रहा नॉर्थ कोरिया
संयुक्त राष्ट्र यानी UN ने नॉर्थ कोरिया पर परमाणु और बैलिस्टिक हत्यारों की टेस्टिंग को लेकर प्रतिबंध लगाए हैं। आसान शब्दों में कहें तो नॉर्थ कोरिया परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण नहीं कर सकता है। इसके बावजूद लगातार मिसाइल टेस्ट किए जा रहे हैं। इससे पहले मई में भी मिसाइल टेस्ट किया गया था।

नॉर्थ कोरिया तेजी से बढ़ा रहा मिलिट्री बिल्डअप
नॉर्थ कोरिया अपने मिलिट्री बिल्डअप को तेजी से बढ़ा रहा है। बीते दिनों नॉर्थ कोरिया ने कई सारे मिसाइल टेस्ट किए हैं। इनमें एक नई प्रकार की लंबी दूरी की क्रूज मिसाइल और एक हाइपरसोनिक मिसाइल लॉन्च शामिल है। APN न्यूज के मुताबिक, नार्थ कोरिया ने 2017 से लेकर अब तक 30 से ज्यादा बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया है।

नॉर्थ कोरिया जल्द न्यूक्लियर टेस्ट कर सकता है
हाल ही में नॉर्थ कोरिया ने खुद को न्यूक्लियर आर्म्ड स्टेट घोषित किया। इसके लिए नॉर्थ कोरिया ने नया कानून भी पारित किया। कानून के मुताबिक, अगर नॉर्थ कोरिया पर खतरा मंडराया तो वो खतरा पैदा करने वाले किसी भी देश पर परमाणु हमला कर सकता है। किम जोंग उन ने जुलाई में कहा था कि उनका देश अमेरिका और दक्षिण कोरिया से लड़ने के लिए न्यूक्लियर पावर का इस्तेमाल करने के लिए तैयार है।

दक्षिण कोरियाई और अमेरिकी अधिकारी महीनों से चेतावनी दे रहे हैं कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन परमाणु परीक्षण करने की तैयारी कर रहे हैं। साउथ कोरिया की स्पाई एजेंसी के मुताबिक, 16 अक्टूबर से 8 नवंबर के बीच नॉर्थ कोरिया न्यूक्लियर टेस्ट कर सकता है।

खबरें और भी हैं...