• Hindi News
  • International
  • Nurse Lori wood, Adopts Autistic homeless Man Jonathan Pinkard, So He Could Get New Heart, Piedmont Newnan Hospital

अमेरिका / नर्स ने चार घंटे पहले मिले मरीज को गोद लिया, ताकि उसका हार्ट ट्रांसप्लांट हो सके



नर्स लॉरी वुड के साथ बेघर जॉनाथन पिंककार्ड। नर्स लॉरी वुड के साथ बेघर जॉनाथन पिंककार्ड।
पीडमाउंट अस्पताल के सम्मान समारोह में लॉरी और पिंककार्ड। पीडमाउंट अस्पताल के सम्मान समारोह में लॉरी और पिंककार्ड।
पिछले साल सर्जरी के बाद पिंककार्ड और लॉरी। पिछले साल सर्जरी के बाद पिंककार्ड और लॉरी।
X
नर्स लॉरी वुड के साथ बेघर जॉनाथन पिंककार्ड।नर्स लॉरी वुड के साथ बेघर जॉनाथन पिंककार्ड।
पीडमाउंट अस्पताल के सम्मान समारोह में लॉरी और पिंककार्ड।पीडमाउंट अस्पताल के सम्मान समारोह में लॉरी और पिंककार्ड।
पिछले साल सर्जरी के बाद पिंककार्ड और लॉरी।पिछले साल सर्जरी के बाद पिंककार्ड और लॉरी।

  • 27 साल का बेघर मरीज जॉनाथन पिंककार्ड को ह्रदय संबंधी समस्या थी
  • लेकिन कोई केयर टेकर नहीं होने से अस्पताल ने हार्ट ट्रांसप्लांट से मना कर दिया, फिर वह घर चला गया
  • दूसरी बार फिर अस्पताल ने बुलाया, तब उसकी कहानी नर्स लॉरी को पता चली तो उसने उसे गोद ले लिया

Dainik Bhaskar

Nov 13, 2019, 12:27 PM IST

न्यूनन (जॉर्जिया).  पिछले साल अगस्त में ऑस्टन के शरणार्थी शिविर में रहने वाले 27 साल के युवक जॉनाथन पिंककार्ड का नाम हार्ट ट्रांसप्लांट होने वालों की सूची में गया था। उसे दिल की बीमारी के कारण सांस लेने में तकलीफ होती थी। सर्जरी कराने के लिए पिंककार्ड जॉर्जिया के न्यूनन में पीडमाउंट हॉस्पिटल पहुंचा, लेकिन बेघर होने के कारण उसके साथ कोई केयर टेकर नहीं था। अस्पताल ने सर्जरी के बाद 3 दिन तक देखभाल करने वाला नहीं होने के कारण उसका नाम सर्जरी की सूची से हटा दिया और केयर टेकर की व्यवस्था करने के लिए कहा। इससे पिंककार्ड को समझ ही नहीं आया क्या करें। वह ऑस्टन लौट गया और क्लर्क का काम करने लगा।
 
दिसंबर 2018 में एक बार फिर उसका नाम सर्जरी के लिए तय हुआ। पिंककार्ड दोबारा न्यूयन पहुंचा। यहां अस्पताल में उसकी मुलाकात 57 साल की नर्स लॉरी वुड से हुई। अगले दो दिन सर्जरी के बाद पिंककार्ड को लॉरी की देखरेख में रहना था। पिंककार्ड के रिकॉर्ड से लॉरी को पता चला बेघर होने कारण उसकी सर्जरी एक बार टल चुकी है। ऐसा दोबारा भी हो सकता था। कुछ घंटों की मुलाकात के बाद ही लॉरी ने पिंककार्ड को आधिकारिक तौर पर गोद ले लिया और उसकी देखभाल की जिम्मेदारी का अनुबंध किया। पिंककार्ड को यह किसी सपने जैसा लगा। उसका ऑपरेशन हुआ और अस्पताल ने देखरेख के लिए उसे लॉरी के घर भेज दिया था। बीते एक साल से वह लॉरी के यहां ही रह रहा है और अब ठीक है। 

 

'लॉरी के काम ने प्रेरणा दी'
पिछले 37 साल से नर्सिंग के पेशे में कार्यरत लॉरी को हाल ही में उनके अस्पताल ने पिंककार्ड की देखरेख करने के लिए सम्मानित किया। पीडमाउंट अस्पताल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी माइक रॉबर्टसन ने कहा, लॉरी ने वह किया, जो हमें दूसरों की और बेहतर तरीके से देखरेख करने की प्रेरणा देता है। लॉरी ने पिंककार्ड को नई जिंदगी, नया दिल, नया परिवार दिया। इतना ही नहीं नई मां के रूप में खुद को साबित किया है। लॉरी सिंगल मदर थी। उन्होंने पिंककार्ड के लिए ऑनलाइन फंड एकत्रित भी किया। लॉरी ने बताया हमारी सोच और पसंद भी काफी मिलती-जुलती है। 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना