कोरोना के नए वैरिएंट से दहशत:ओमिक्रॉन के बावजूद यूरोप के मुकाबले अफ्रीका में कोरोना का कहर कम, नए मरीज और मौतें भी घटीं

6 महीने पहले

कोरोना के नए वैरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ से दुनिया गहरी चिंता में है। यूरोपियन यूनियन ने आनन-फानन में अफ्रीका की उड़ानों पर रोक लगा दी, जिससे इस वैरिएंट को लेकर दहशत फैल गई। WHO ने ओमिक्रॉन को कोरोना के डेल्टा वैरिएंट से 7 गुना तेजी से फैलने वाला बताया है। इस लिहाज से वायरस के बहुत तेजी के साथ लोगों को संक्रमित करने की आशंका पैदा हो गई है। इसका असर इकोनॉमी पर पड़ने की आशंका से शेयर मार्केट भी तेजी से नीचे गिरे हैं।

दुनियाभर में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से बढ़ी चिंता के बीच एक दूसरा पहलू भी है और वो ये कि जिस अफ्रीका से नए स्ट्रेन की शुरुआत हुई है, वहां पिछले दो महीने से नए मरीजों और मौतों की संख्या में गिरावट दर्ज हुई है। यह बात इसलिए अहम है, क्योंकि अफ्रीकन मेडिकल एसोसिएशन का कहना है कि अफ्रीका में ओमिक्रॉन वैरिएंट दो महीने से मौजूद है। तब से अब तक यह 45 बार अपना रूप बदल चुका है। इसके बावजूद मौतों की संख्या में कमी आ रही है।

यूरोप में अफ्रीका से 86 गुना नए मरीज मिल रहे, मौतें भी ज्यादा
दुनिया की 17% आबादी वाले अफ्रीका के 54 देशों में रोज सिर्फ 4,200 मरीज मिल रहे हैं, जो यूरोप से 86 गुना कम हैं। अफ्रीका में रोज होने वाली मौतें भी 150 से कम हैं। यूरोप से तुलना करें तो यह आंकड़ा 26 गुना कम हैं। भरोसा जगाने वाली बात यह है कि अफ्रीका में रोजाना केस और मौतें, दोनों ही दो महीने से लगातार घट रही हैं। दूसरी ओर दुनिया की 10% आबादी वाले यूरोप के 45 देशों में रोज 3.63 लाख मरीज मिल रहे हैं। रोज 3,880 से ज्यादा मौतें हो रही हैं।

प्रधानमंत्री ने की इमरजेंसी बैठक
ओमिक्रॉन काे लेकर आशंकाओं के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को इमरजेंसी बैठक की। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की निगरानी के साथ ही ‘जोखिम’ वाले देशों से आने वाले लोगों के लिए विशेष निगरानी व्यवस्था तैयार करने को कहा। साथ ही अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध हटाने की घोषणा की समीक्षा करने को कहा।

खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि BCCI को दक्षिण अफ्रीका टीम भेजने से पहले मशविरा करना चाहिए। भारतीय टीम तीन टेस्ट, तीन वनडे और चार टी20 खेलने के लिए दक्षिण अफ्रीका जाने वाली है। टीम का टूर 17 दिसंबर से शुरू होगा।

कर्नाटक-महाराष्ट्र में अफ्रीकी देशों से आने वाले क्वारैंटाइन होंगे
मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा- अफ्रीका से आने वाले हर यात्री के सैंपल लिए जा रहे हैं। पॉजिटिव आने पर जीनोम सीक्वेंसिंग होगी। यात्री को क्वारैंटाइन किया जाएगा। कर्नाटक आने वाले हर यात्री को 7 दिन तक घर पर रहना होगा। इसके बाद टेस्ट होगा। यदि रिपोर्ट निगेटिव आती है तो ही वे घर से निकल सकेंगे। यदि रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उन्हें एयरपोर्ट या आसपास ही किसी स्थान पर रखा जाएगा।

खबरें और भी हैं...