बलूचिस्तान में पाकिस्तान तालिबान का हमला:4 पैरामिलिट्री गार्ड की मौत, 18 पुलिसवालों समेत 20 घायल; कई की हालत गंभीर

इस्लामाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने बताया कि आत्मघाती हमलावर ने चेकपोस्ट पर हमारी गाड़ी में मोटरसाइकिल से टक्कर मार दी, जिसके बाद वहां जोरदार धमाका हुआ। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने बताया कि आत्मघाती हमलावर ने चेकपोस्ट पर हमारी गाड़ी में मोटरसाइकिल से टक्कर मार दी, जिसके बाद वहां जोरदार धमाका हुआ।

पाकिस्तान के बलूचिस्तान में रविवार को फिदायीन हमले में चार पैरामिलिट्री गार्ड्स की मौत हो गई। क्वेटा में मस्तुंग रोड पर फ्रंटियर कॉर्प्स चेकपोस्ट पर हुए हमले में 20 लोग घायल भी हुए हैं। घायलों में 18 सुरक्षाकर्मी हैं। पुलिस ने बताया है कि घायलों को शेख जैद अस्पताल ले जाया गया है। इनमें से कई की हालत गंभीर है। पुलिस और बचाव दल घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। आसपास की जगहों की तलाशी ली जा रही है।

आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। शनिवार को तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा था कि TTP का मुद्दा ऐसा है, जिसे इमरान खान सरकार को हल करना चाहिए, अफगानिस्तान को नहीं।

धमाके में 5 किलोग्राम विस्फोटक इस्तेमाल होने का आशंका
मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि हमला फ्रंटियर कोर की गाड़ी को निशाना बनाकर किया गया था, जो इलाके में पेट्रोलिंग कर रही थी। DIG के हवाले से धमाके में 5 किलोग्राम विस्फोटक इस्तेमाल होने की बात कही गई है।

बताया जा रहा है कि हमला फ्रंटियर कोर की गाड़ी को निशाना बनाकर किया गया, जो इलाके में पट्रोलिंग कर रही थी।
बताया जा रहा है कि हमला फ्रंटियर कोर की गाड़ी को निशाना बनाकर किया गया, जो इलाके में पट्रोलिंग कर रही थी।

प्रधानमंत्री इमरान खान ने हमले की निंदा की
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हमले की निंदा की है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि मेरी संवेदना शहीदों के परिवारों के साथ है और घायलों के ठीक होने की प्रार्थना करता हूं। विदेशी समर्थित आतंकवादियों को विफल करके हमें सुरक्षित रखने के लिए सुरक्षा बलों और उनके बलिदान को मेरा सलाम है।

क्वेटा में बम धमाके में 2 पुलिसकर्मियों की मौत हुई थी
कुछ दिनों पहले ही पाकिस्तान के क्वेटा में बम धमाके में 2 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। 13 लोग घायल हुए थे। यह बम ब्लास्ट शहर की उसी मशहूर सेरेना होटल के करीब हुआ, जहां करीब चार महीने पहले आतंकी हमला हुआ था। उस घटना में कई लोग मारे गए थे।

रिपोर्ट के मुताबिक, बम एक मोटरसाइकिल में छिपाकर रखा गया था। जैसे ही पुलिस की एक गश्ती वैन वहां से गुजरी तो ब्लास्ट हो गया। दो पुलिसकर्मियों की मौके पर ही मौत हो गई। घटना में सड़क से गुजर रहे चार राहगीर भी घायल हुए।

खबरें और भी हैं...