Pok में चीन का बनाया पुल ढहा:ग्लेशियर पिघलने से आई बाढ़, पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर का चीन से संपर्क टूटा

इस्लामाबाद3 महीने पहले

भारत और पाकिस्तान में हीटवेव से गर्मी बढ़ा गई है। खराब एयर क्वालिटी के साथ-साथ जंगलों में आग आम हो गई है। अब इस गर्मी के कारण पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) के हुंजा वैली में झील पर बना एक पुल टूट गया है।

न्यूज एजेंसी AFP ने इसका एक वीडियो ट्वीट किया है जिसमें पुल को गिरते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में सुर‍क्षाकर्मी लोगों को इसके बारे में चेतावनी देते हुए भी नजर आ रहे हैं।

गर्मी के कारण पिछले 20 दिनों में शिशपर ग्लेशियर झील का पानी में 40 फीसदी बढ़ा है।
गर्मी के कारण पिछले 20 दिनों में शिशपर ग्लेशियर झील का पानी में 40 फीसदी बढ़ा है।

जानकारी के मुताबिक, ये पूरी घटना पाकिस्‍तान के हसनाबाद गांव में हुई। यहां शिस्पर ग्लेशियर पिघलने से झील का जलस्तर बढ़ गया। जिसके बाद बाढ़ आ गई और पुल देखते ही देखते गिर गया।

POK का चीन से कनेक्शन कटा
ये पुल कराकोरम हाइवे पर बना हुआ था। इस पुल को चीन ने बनाया था। ये सड़क पाकिस्तान के कब्जे वाले गिलगित-बाल्टिस्तान को चीन के साथ जोड़ती है। यह चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर का हिस्सा है। इसके गिर जाने के बाद POK और चीन का संपर्क टूट गया है। छोटे वाहनों को सास वैली रोड की ओर मोड़ा गया। ये दुनिया की सबसे ऊंची सड़कों में से एक है।

इस पुल को चीन ने बनाया था। यह चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर का हिस्सा है।
इस पुल को चीन ने बनाया था। यह चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर का हिस्सा है।

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक बाढ़ के पानी से हसनाबाद में दो पावर प्लांट भी बह गए। वहीं, आपदा में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया।

पाकिस्तान में गर्मी का 61 साल का रिकॉर्ड टूटा
हाल ही में पाकिस्तान में गर्मी ने 61 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। कई इलाकों में तापमान 48 डिग्री के भी पार पहुंच गया। वहीं, रिपोर्ट्स के मुताबिक 2019 में नासा ने शिशपर ग्लेशियर को लेकर चेतावनी दी थी कि अगर बाढ़ आ गई तो काराकोरम हाईवे, हासनाबाद में आसपास के गांव, कई सिंचाई परियोजनाओं और पावर प्लांट प्रभावित होंगे।