• Hindi News
  • International
  • Paksitan Saudi Arabia | Pakistan Financial Crisis; Saudi Arabia Price Bin Salman Deposit Usd 3 Billion In Central Bank

कंगाल पाक को प्रिंस का सहारा:पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक में 3 अरब डॉलर जमा कराएगा सऊदी अरब, इमरान ने कहा- शुक्रिया

दुबईएक महीने पहले

खस्ताहाल इकॉनॉमी और महंगाई से बेहाल देश पाकिस्तान की मदद करने के लिए सऊदी अरब एक बार फिर सामने आया है। सऊदी फंड फॉर डेवलपमेंट ने मंगलवार को पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक में 3 अरब अमेरिकी डॉलर जमा करने का ऐलान किया। इतना ही नहीं सऊदी अरब डेफर्ड पेमेंट के साथ 1.2 अरब डॉलर की ऑयल सप्लाई भी पाकिस्तान को करेगा।

इमरान खान ने सऊदी प्रिंस को शुक्रिया कहा
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सऊदी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को इस मदद के लिए शुक्रिया कहा है। इमरान खान ने ट्वीट किया, 'मैं प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक में 3 अरब डॉलर जमा कराने और 1.2 अरब डॉलर के रिफाइंड पेट्रोलियम प्रोडक्ट की फाइनेंसिंग के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। KSA हमेशा हमारे कठिन समय में साथ रहे हैं। अब भी जब दुनिया बढ़ते कमोडिटी प्राइस का सामना कर रही है।

क्राउन प्रिंस से मिले थे इमरान खान
इमरान खान 23 से 25 अक्टूबर तक सऊदी अरब के दौरे पर थे। इमरान यहां मिडल ईस्ट ग्रीन इनिशिएटिव (MGI) सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में शामिल हुए थे। इमरान ने सोमवार को रियाद में मिडिल ईस्ट ग्रीन इनिशिएटिव समिट से अलग सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुलाजीज अल सौद से मुलाकात भी की थी। इसी मुलाकात के ठीक बाद सऊदी अरब की तरफ से सहायता का एलान किया गया है।

दूसरा बड़ा पैकेज
यह दूसरा बड़ा वित्तीय सहायता पैकेज है जिसे सऊदी अरब ने पिछले तीन वर्षों में पाकिस्तान को दिया है। इससे पहले 2018 में सऊदी अरब ने पाकिस्तान को 6 अरब अमरीकी डॉलर का वित्तीय पैकेज दिया था। इसमें स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान में 3 अरब डॉलर डिपॉजिट और शेष 3 अरब डॉलर वार्षिक आधार पर डेफर्ड पेमेंट पर ऑयल सप्लाई के रूप में थे।

पाक को वापस करना पड़ा था 2 अरब डॉलर
द्विपक्षीय संबंध बिगड़ने के कारण पाकिस्तान को 3 अरब डॉलर के डिपॉजिट में से 2 अरब डॉलर वापस करना पड़ा था। पिछले साल, दोनों देशों के बीच रिश्ते तब खराब हुए थे जब सऊदी अरब ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के मुद्दे पर भारत के खिलाफ कोई भी एक्शन लेने से इनकार कर दिया था। इसे लेकर पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सऊदी अरब को कड़ी चेतावनी दी थी।