पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • International
  • Pakistan Imran Khan | Pakistan Imran Khan Maryam Nawaz Pakistan Democratic Movement (PDM) Latest News And Updates.

सरकार को चैलेंज:पति की गिरफ्तारी से भड़कीं मरियम की सरकार को चुनौती- हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार करके दिखाएं

इस्लामाबाद8 महीने पहले
सोमवार को पति कैप्टन सफदर की रिहाई के बाद मरियम नवाज। मरियम ने कहा- इमरान अब कुछ भी कर लें, वे सरकार नहीं बचा पाएंगे।
  • मरियम नवाज के पति कैप्टन सफदर को सोमवार को एक होटल से गिरफ्तार किया गया था
  • विपक्षी दलों का आंदोलन शुरू होने के बाद इमरान खान कई नेताओं को झूठे आरोपों में गिरफ्तार कर चुकी है

पाकिस्तान सरकार विपक्षी दलों के संगठन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक फ्रंट (पीडीएम) के आंदोलन को कुचलने के लिए तमाम तरह के हथकंडे अपना रही है। सोमवार को पीडीएम नेता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज के पति कैप्टन सफदर को गिरफ्तार किया गया। कुछ घंटे में उन्हें रिहा भी करना पड़ा। क्योंकि, गिरफ्तारी का कोई ठोस आधार नहीं था। अब मरियम ने प्रधानमंत्री इमरान खान और फौज को खुला चैलेंज किया है। मरियम ने सोमवार देर रात कहा- इमरान और उनके रहनुमा बेकसूरों को परेशान न करें। हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार करके दिखाएं।

परिवार को ब्लैकमेल करने की साजिश
कराची में पति की गिरफ्तारी और फिर रिहाई से मरियम का गुस्सा सातवें आसमान पर था। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा- मेरे परिवार और करीबियों को परेशान करके मुझे ब्लैकमेल करने की साजिश की जा रही है। अगर इमरान खान सरकार और उनके रहनुमाओं में हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार करके दिखाएं। करो मुझे गिरफ्तार ताकि तुम्हारा असली चेहरा दुनिया के सामने आ सके। हम कमजोर नहीं हैं, जो सरकार और उनको बचा रहे लोगों के सामने झुक जाएं। हर हरकत का माकूल जवाब हम और हमारे साथ अवाम देने के लिए तैयार है।

बिलावल बोले- हम तैयार
मरियाम के पति सफदर पाकिस्तानी वायुसेना में पायलट रह चुके हैं। उनकी गिरफ्तार केंद्रीय जांच एजेंसी ने कराची से की। खास बात ये है कि कराची सिंध प्रांत का हिस्सा है और यहां बिलावल भुट्टो की पार्टी पीपीपी की सरकार है। लेकिन, जांच एजेंसियों ने इसकी जानकारी राज्य सरकार को नहीं दी। बिलावल ने कहा- यह साजिश है। अगर उनमें हिम्मत है तो हमें गिरफ्तार करें। इस दौरान बिलावल के साथ मौलाना पीडीएम के मुखिया मौलाना फजल उर रहमान भी थे।

दबाव में फौज और सरकार
पहले गुजरांवाला और फिर कराची में विपक्ष की रैलियों के बाद सिर्फ इमरान सरकार ही नहीं बल्कि फौज पर भी काफी दबाव है। दरअसल, पीडीएम के नेता इमरान को सत्ता में लाने और फिर बचाने के लिए सीधे तौर आर्मी और इसके प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा पर निशाना साध रहे हैं। और ये पाकिस्तान के सियासी इतिहास में पहली बार हो रहा है जब फौज को रैलियों के जरिए सीधा तौर पर सियासत में घसीटा जा रहा है। मरियम ने साफ तौर पर कहा- मेरे पति को जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं। वे भी फौजी हैं। उनका सियासत से कोई ताल्लुक नहीं। इमरान की सिलेक्टेड सरकार मुझे गिरफ्तार करके दिखाए। बेकसूरों को क्यों परेशान कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...