VIDEO- फिर धमाके से दहली कराची:IED ब्लास्ट में 1 की मौत 13 घायल; कई गाड़ियां तबाह, घरों के शीशे टूटे

कराची7 दिन पहले

पाकिस्तान में आतंकी हमलों को सिलसिला बदस्तूर जारी है। बीते दिन, यानी गुरुवार को आतंकियों ने पाकिस्तानी की आर्थिक राजधानी कराची को निशाना बनाया। कराची के सदर इलाके में यूनाइटेड बेकरी के पास IED ब्लास्ट किया गया। इस विस्फोट में 1 नागरिक की मौत हो गई, जबकि 13 घायल हो गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, धमाका इतना जोरदार था कि आस पास मौजूद गाड़ियों में आग लग गई। इसके अलावा यहां मौजूद अपार्टमेंट, दुकानों, कारों की खिड़कियां टूट गईं। अभी तक किसी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

फायर फाइटर्स और बम डिस्पोजल स्क्वॉड की टीमें पहुंच पर रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गई हैं।
फायर फाइटर्स और बम डिस्पोजल स्क्वॉड की टीमें पहुंच पर रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गई हैं।

बाइक से किया गया ब्लास्ट
शहर के IGP मुश्ताक अहमद महरी ने बताया- शुरुआती जांच में पता चला है कि एक बाइक में IED फिट करके ब्लास्ट किया गया। जहां तक ​​हताहतों की बात है तो एक 25 साल के लड़के की मौत हो गई है, बाकी घायलों का इलाज जारी है। राज्य के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने इस मामले पर रिपोर्ट मांगी है।

विस्फोट इतना जोरदार था कि आसपास खड़ी गाड़ियों में भी आग लग गई।
विस्फोट इतना जोरदार था कि आसपास खड़ी गाड़ियों में भी आग लग गई।

प्रधानमंत्री ने भी जाहिर किया अफसोस
प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने भी इस घटना पर अफसोस जाहिर किया है। उन्होंने आतंकवाद के सफाया करने के लिए राज्य सरकार के साथ मिलकर काम करने की बात कही। वहीं, शहबाज सरकार के मंत्री राणा सनाउल्लाह का कहना है कि केंद्र सरकार इस मामले की जांच के लिए सिंध सरकार को पूरा सपोर्ट देगी।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने इस घटना पर अफसोस जाहिर किया है। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री ने डिटेल्ड रिपोर्ट मांगी है।
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने इस घटना पर अफसोस जाहिर किया है। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री ने डिटेल्ड रिपोर्ट मांगी है।

15 दिन पहले गई थी तीन चीन की महिला प्रोफेसर की जान
पाकिस्तान में बीते कुछ वक्त में आतंकी घटनाओं में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है। 15 दिन पहले ही कराची की यूनिवर्सिटी में हुए फिदायीन हमले में 5 लोगों की मौत हो गई थी। हमला कन्फ्यूशियस इंस्टीट्यूट के पास एक कार के करीब हुआ। मारे गए 5 लोगों में से तीन चीन की महिला प्रोफेसर हैं। चौथा उनका पाकिस्तानी ड्राइवर और पांचवा गार्ड था।

यह हमला बलोच लिबरेशन फ्रंट (BLA) की मजीद ब्रिगेड की एक महिला फिदायीन ने किया था।
यह हमला बलोच लिबरेशन फ्रंट (BLA) की मजीद ब्रिगेड की एक महिला फिदायीन ने किया था।

तालिबान की वापसी के बाद बढ़ी मुश्किलें
अफगानिस्तान में तालिबान की वापसी के बाद से पाकिस्तान लगातार आतंकियों के निशाने पर है। पाक सरकार को तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान, बलोच लिबरेशन आर्मी, ISIS खुरासान का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, अफगानिस्तान तालिबान बॉर्डर पर उसके लिए चुनौती बनी हुई है।