मनी लॉन्ड्रिंग केस में PAK पीएम शाहबाज को जमानत:जांच एजेंसी ने किया इसका विरोध, कहा पिता-पुत्र आदतन अपराधी घोषित हों

इस्लामाबादएक महीने पहलेलेखक: इस्लामाबाद से भास्कर के लिए नासिर अब्बास  
  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने के 41 दिन में ही शाहबाज शरीफ एक विशेष अदालत में पेश हुए। लगभग 16 अरब रुपए के मनी लॉन्ड्रिंग केस में शाहबाज और उनके पुत्र और पंजाब के मुख्यमंत्री हमजा शरीफ आरोपी हैं। कोर्ट ने दोनों की जमानत स्वीकार कर मामले की सुनवाई 28 मई तक स्थगित कर दी।

शाहबाज ने खुद पर लगे सभी आरोपों को राजनीतिक रूप से प्रेरित बताया। जबकि, जांच एजेंसी FIA (फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी) ने कहा कि दोनों पिता-पुत्र भगोड़े रहे हैं। इन्हें जमानत नहीं दी जाए। पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने शाहबाज शरीफ और हमजा पर चल रहे मामलों में किसी भी जांचकर्ता के ट्रांसफर और नई पोस्टिंग पर रोक लगाई हुई है।

इमरान खान की पार्टी ने भी लगाए आरोप
पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस उमर अता बंदीयाल ने इन हाई प्रोफाइल की पहल पर ये रोक लगाई गई है। इमरान की पार्टी का आरोप है कि शरीफ कुनबे की ये पुरानी चाल है कि उनके खिलाफ चल रहे मामलों को कमजोर करने के लिए अपनी पसंद के लोगों की नियुक्ति करते हैं।

पाकिस्तान में शाहबाज शरीफ की नई सरकार के दामन पर दाग हैं। खुद प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ पर घोटालों और अनियमितताओं के चार बड़े आरोप भी हैं।
पाकिस्तान में शाहबाज शरीफ की नई सरकार के दामन पर दाग हैं। खुद प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ पर घोटालों और अनियमितताओं के चार बड़े आरोप भी हैं।

कोर्ट में सुरक्षा के तामझाम देख जज बोले- ये गलत है
शाहबाज शरीफ और उनके पुत्र हमजा की लाहौर की विशेष कोर्ट में पेशी के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। इसके देखकर जज एजाज हसन ने कहा कि पीएम साहब ये कैसी सुरक्षा है, वकीलों और यहां तक कि जजों को भी कोर्ट में आने नहीं दिया जा रहा है। जज हसन ने कहा कि ये गलत है। इस पर प्रधानमंत्री शाहबाज ने कहा कि मुझे भी कोर्ट में आने से रोका गया। जज ने कहा कि आप देश की सरकार के मुखिया हो। आप इसकी जांच के आदेश दें। केवल हां में हां मिलाने से कुछ नहीं होगा। जिस पर शाहबाज ने कहा कि मैं पंजाब के मुख्यमंत्री हमजा शरीफ को इसकी जांच के आदेश दे रहा हूं।

वर्ल्ड बैंक की मदद से 10 जून को बजट पेश कर पाएंगे शरीफ
वर्ल्ड बैंक के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद शाहबाज शरीफ ने आम बजट के ऐलान की घोषणा की है। पाकिस्तान सरकार वित्तीय वर्ष 2022-23 का बजट, वित्त विधेयक के साथ 10 जून को पेश करेगी। बजट में सरकार लगभग 70 हजार करोड़ रुपए की अनुमानित लागत का हिसाब देगी। वर्ल्ड बैंक पाकिस्तान सरकार को 155 करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता देगा, आने वाले बुधवार तक इसकी पुष्टि कर दी जाएगी। आर्थिक तंगी का सामना कर रही पाक सरकार को सऊदी सरकार से लगभग 8 अरब डॉलर मदद मिली है।

इमरान के तेवर कड़े, 25 से इस्लामाबाद के लिए लॉन्ग मार्च
पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने भी शाहबाज सरकार के खिलाफ तेवर कड़े कर दिए हैं। इमरान की पार्टी PTI ने 25 से 29 मई तक पाकिस्तान के विभिन्न शहरों से राजधानी इस्लामबाद तक लॉन्ग मार्च का ऐलान किया है। दरअसल, पंजाब प्रांत में शाहबाज शरीफ के बेटे हमजा को समर्थन दे रहे PTI के 25 विधायकों के अयोग्य घोषित होने के बाद से इमरान को शाहबाज शरीफ को घेरने का अच्छा सियासी मौका मिल गया है। वे अपनी सभाओं में शाहबाज सरकार पर अमेरिका परस्त होने के अपने पुराने आरोपों को फिर से तेज कर रहे हैं।