पाकिस्तान / हिंदू प्रिंसिपल ईशनिंदा के आरोप में गिरफ्तार, भीड़ ने स्कूल और मंदिरों में तोड़फोड़ की



X

  • सिंध प्रांत में स्कूल के छात्र के पिता ने ही प्रिसिंपल नोटल मल के खिलाफ ईशनिंदा के लिए एफआईआर दर्ज कराई
  • स्कूल को बंद कर दिया गया, सुरक्षा कारणों से पुलिस ने प्रिंसिपल को सुरक्षित स्थान पर रखा है

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 09:45 AM IST

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक स्कूल के हिंदू प्रिंसिपल को ईशनिंदा के आरोप में रविवार को गिरफ्तार कर लिया। सिंध पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल नोटल मल के खिलाफ छात्र के पिता अब्दुल अजीज राजपूत ने शनिवार को एफआईआर दर्ज कराई। घटना के बाद भीड़ ने स्कूल और हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ कर दी। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

 

घटना सिंध प्रांत के घोटकी शहर की है। एसएसपी फर्रुख लंजर ने कहा कि कानून व्यवस्था बनी हुई है। हिंसा को बढ़ते देख लोगों की मांग पर प्रिसिंपल को गिरफ्तार कर फिलहाल स्कूल बंद कर दिया गया।

 

 

हैदराबाद के डीआईजी मामले की जांच कर रहे

सत्ताधारी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) नेता रमेश कुमार वंकवानी ने कहा कि हैदराबाद के डीआईजी नईम शेख मामले की जांच कर रहे हैं। सुरक्षा कारणों से प्रिंसिपल को सुरक्षित स्थान पर रखा गया है। वहीं, सिंध के मुख्यमंत्री के विशेष सहायक और वकील वीरजी कोल्ही ने कहा कि कुछ जगहों पर हिंसा और तोड़फोड़ की घटनाएं हुई हैं। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।

 

ईसाई महिला पर भी लगा चुका ईशनिंदा का आरोप
इससे पहले पाकिस्तान में एक ईसाई महिला असिया बीबी पर भी ईशनिंदा का आरोप लग चुका है। 2010 में उसे दोषी ठहराया गया और मौत की सजा सुनाई गई। नवंबर 2018 में असिया को सुप्रीम कोर्ट ने बरी कर दिया। इस फैसले के खिलाफ देशभर में बड़े स्तर पर प्रदर्शन हुए थे। पाक की कट्टरपंथी तहरीक-ए-लब्बैक पार्टी (टीएलपी) ने फैसला सुनाने वाले जजों को मारने की धमकी भी दी थी। साथ ही प्रधानमंत्री इमरान खान के भी इस्तीफे की मांग की। असिया अब अपने परिवार के साथ कनाडा में रहती हैं।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना