यूक्रेन बॉर्डर के पास रशियन बिल्डअप:अमेरिका बोला- रूस का इरादा नहीं बता सकते, लेकिन क्षेत्र पर हमारी नजर

वॉशिंगटन9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूक्रेन की बॉर्डर के पास रूस की सैन्य गतिविधियों की खबरों पर अमेरिका की भी नजर है। पेंटागन के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने एक प्रेस ब्रीफिंग में ये बात कही। जॉन किर्बी ने कहा, 'रूस का क्या इरादा है इसे लेकर मैं कुछ नहीं बोल सकता, लेकिन हम इस क्षेत्र की निगरानी कर रहे हैं।'

रशियन बिल्डअप की सैटेलाइट तस्वीरें
कई न्यूज वेबसाइट्स ने रशियन मिलिट्री बिल्डअप की सैटेलाइट तस्वीरें पब्लिश की है। सोशल मीडिया पर इससे जु़ड़े कुछ वीडियो भी वायरल हो रहे हैं। सैटेलाइट तस्वीरों से पता चलता है कि रूस ने बॉर्डर के करीब सैनिकों की संख्या में इजाफा किया है और मिलिट्री इक्विपमेंट तैनात किए हैं।

कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल
सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में सैन्य ट्रेनों और ट्रक के काफिलों को रूस के साउथ वेस्ट में यूक्रेन के पास टैंक और मिसाइल ले जाते देखा जा सकता है। हालांकि, सोशल मीडिया पर वायरल इन वीडियो में कितनी सच्चाई है ये कहा नहीं जा सकता।

यूक्रेन ने खबरों का खंडन किया
रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय के हवाले से बॉर्डर के करीब रशियन बिल्डअप की खबरों का खंडन किया गया है। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि उन्होंने फोर्स और हथियारों में बढ़ोतरी नहीं देखी।

क्रीमिया पर रूस के कब्जे के बाद से बिगड़े संबंध
1991 में सोवियत संघ के पतन के बाद यूक्रेन को स्वतंत्रता मिली थी। 2014 में रूस ने यूक्रेन के कंट्रोल वाले क्रीमिया पर कब्जा कर लिया था। इसके बाद से दोनों देशों के संबंध और ज्यादा खराब हो गए हैं।

यूक्रेन और रूस के बीच जारी है विवाद
2014 से रूसी समर्थित अलगाववादियों ने ईस्टर्न यूक्रेन में यूक्रेनी सेना के खिलाफ युद्ध छेड़ रखा है। यूक्रेन का कहना है कि साल 2014 के बाद से रशियन आर्मी ने उसके देश के 14 हजार लोगों की हत्याएं कीं।

खबरें और भी हैं...