• Hindi News
  • International
  • People In American Countries Are Learning Japanese, Lack Of Learning Chinese; In The Era Of Corona, The Desire To Learn Foreign Languages Intensified, Language Learning App Users Increased By 300%

भास्कर इन्फोग्राफिक:अमेरिकी देशों में लोग जापानी सीख रहे, चीनी सीखने में कमी; कोरोना के दौर में विदेशी भाषा सीखने की ललक तेज

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
Duolingo जैसे भाषाई लर्निंग ऐप का सब्सक्रिप्शन 300% बढ़ गया है। - Dainik Bhaskar
Duolingo जैसे भाषाई लर्निंग ऐप का सब्सक्रिप्शन 300% बढ़ गया है।

कोरोना महामारी में एप से ऑनलाइन विदेशी भाषा सीखने वालों की संख्या बढ़ गई। यही कारण रहा कि Duolingo जैसे भाषाई लर्निंग एप का सब्सक्रिप्शन 300% बढ़ गया। कनाडा, अमेरिका जैसे देशों में 1 साल में जापानी सीखने वालों की संख्या 33% बढ़ गई है। वहीं, चीनी भाषा सीखने वालों की रफ्तार थम गई है। अरब में अंग्रेजी बढ़ी है।

अंग्रेजी में बढ़ी जापानी और भारतीयों की दिलचस्पी
उत्तरी अमेरिका:
अमेरिका के 2.4% लोग जापानी सीख रहे हैं। 4 साल में संख्या दोगुनी हो चुकी है। कनाडा में भी यही हालात हैं।
दक्षिण अमेरिका: 12 में से 6 देशों में अंग्रेजी का चलन बढ़ा। अर्जेंटीना में इटेलियन चल रही है। कोरियाई भी सीख रहे हैं।
यूरोप: रूसी को अब भी लोग ज्यादा पसंद कर रहे। यूक्रेन के लोग सबसे ज्यादा रूसी सीखना चाहते हैं।
मिडिल ईस्ट: फिलिस्तीन, सऊदी अरब के लोग अरेबिक सीख रहे हैं, तो इराक अंग्रेजी की तरफ मुड़ गया है।
एशिया : भूटान और दक्षिण कोरिया में जापानी की ललक बढ़ी है। जापानी व भारतीय तेजी से अंग्रेजी सीख रहे हैं।
अफ्रीका: यह इकलौता महाद्वीप है, जहां फ्रेंच बढ़ रही हैं। केन्या, अल्जीरिया, मोरक्को, जिम्बाब्वे के लोग फ्रेंच सीखना चाहते हैं।

खबरें और भी हैं...