पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • International
  • Piero, Of Italian Descent, Fighting To Save The Temple In England, Bharat Bhawan Temple Is The Only Place Of Worship For Hindus Living In Cambridge

फंड की कमी से नहीं हो पा रहा रख-रखाव:इंग्लैंड में मंदिर बचाने की जंग लड़ रहे इटैलियन मूल के पिएरो, कैम्ब्रिज में रहने वाले हिंदुओं के लिए एकमात्र पूजा स्थल है भारत भवन मंदिर

लंदन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थानी बलुआ पत्थरों से बना मंदिर। - Dainik Bhaskar
राजस्थानी बलुआ पत्थरों से बना मंदिर।

इंग्लैंड में इटैलियन मूल का एक व्यक्ति भारत भवन मंदिर को बचाने की जंग लड़ रहा है। मंदिर कैम्ब्रिज में रहने वाले पांच हजार हिंदुओं के लिए एकमात्र पूजा स्थल है। मंदिर के लिए लड़ रहे पिएरो डी एंगेलिको नाम के इस व्यक्ति का वहां एक सैलून है। फंड की कमी से रख-रखान न होने पर इसे गिराया जा रहा है।

मंदिर के लिए लड़ रहे पिएरो डी एंगेलिको नाम के इस व्यक्ति का एक सैलून है।
मंदिर के लिए लड़ रहे पिएरो डी एंगेलिको नाम के इस व्यक्ति का एक सैलून है।

दरअसल, पिछले हफ्ते पिएरो कहीं जा रहे थे, तभी उन्होंने देखा कि एक पुरानी लाइब्रेरी को गिराया किया जा रहा है। यह देखकर उन्हें धक्का लगा। इसी में भारत भवन मंदिर भी था। इस मंदिर की वेदी के चारों ओर गुलाबी राजस्थानी बलुआ पत्थर से बने नक्काशीदार खंभे थे। इन्हें देखकर पिएरो को अपने दादा की याद आ गई। क्योंकि पिएरो के दादा चर्च के लिए लगने वाले पत्थरों पर ऐसी ही नक्काशी किया करते थे और पिएरो उनकी मदद किया करते थे।

29 मार्च को गिराया जाना था
मंदिर को बचाने निकले पिएरो को पता चला कि इसे गिराने का मूल कारण है फंड की कमी। 29 मार्च को इसे गिराया जाना था, लेकिन पिएरो के प्रयासों के कारण इसे टाल दिया गया है। धन जुटाने के लिए पिएरो ने GoFundMe पेज बनाया, लेकिन 3,250 पाउंड (करीब 3 लाख 32 हजार रुपए) में से उन्हें अब तक 570 पाउंड ही मिले हैं। भारत भवन को स्थानीय परिषद ने 20 साल पहले जमीन दी थी। इसमें लगा पत्थर और सामान भारत से इंग्लैंड भेजा गया था।

खबरें और भी हैं...