• Hindi News
  • International
  • Imran Khan Vs Khawaja Muhammad Asif; Pakistan Defense Minister On New Army Chief Appointment

नवंबर में पाकिस्तान को मिलेगा नया सेना प्रमुख:PM शाहबाज चीन दौरे से पहले करेंगे नियुक्ति, आर्मी चीफ की रेस में हैं 6 नाम

इस्लामाबाद16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान को नवंबर में नया आर्मी चीफ मिल जाएगा। रक्षा मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा- प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ नवंबर में नए सेना प्रमुख की नियुक्ति करेंगे। नया आर्मी चीफ कौन होगा इसका फैसला पीएमएल-एन पार्टी सुप्रीमो नवाज शरीफ से बातचीत करके लिया जाएगा।

हाल ही में इमरान खान ने दावा किया था कि शाहबाज शरीफ और आसिफ अली जरदारी अपने किसी खास को सेना प्रमुख नियुक्त करना चाहते हैं। ऐसे में नए सेना प्रमुख की नियुक्ति को चुनाव के बाद आने वाली सरकार के लिए छोड़ देना चाहिए। इसके बाद ही रक्षा मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ का बयान सामने आया है।

पाकिस्तान के वर्तमान सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा इसी साल नवंबर में रिटायर होने वाले हैं।
पाकिस्तान के वर्तमान सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा इसी साल नवंबर में रिटायर होने वाले हैं।

आर्मी चीफ की नियुक्ति को कॉन्ट्रोवर्शियल बना रहे इमरान
आसिफ ने कहा- नवाज शरीफ ने 4 बार ये जिम्मेदारी निभाई। अब शाहबाज शारीफ ऐसा ही करेंगे। संविधान में सेना प्रमुख की नियुक्ति के संबंध में नीतियां साफ हैं लेकिन खान इसे विवादित बनाने की कोशिश कर रहे थे। वो सिर्फ आर्मी चीफ की नियुक्ति को विवादों में घेरना चाहते हैं। राजनीति एक तरफ है लेकिन संस्थानों को विवादास्पद नहीं बनाया जाना चाहिए।

चीन के दौरे पर जाएंगे शाहबाज
रक्षा मंत्री आसिफ ने बताया कि नए सेना प्रमुख की नियुक्ति के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ चीन की वीजिट पर जाएंगे। उन्होंने कहा- चीन के राष्ट्रपति शी जिंगपिंग के निमंत्रण पर शहबाज शरीफ नवंबर के पहले सप्ताह में चीन जाएंगे। SCO की बैठक से इतर उज्बेकिस्तान के समरकंद में द्विपक्षिय बैठक के दौरान शी जिनपिंग ने शहबाज शरीफ को आमंत्रित किया था।

नए आर्मी चीफ की दौड़ में 6 नाम पाकिस्तानी सेना में COAS (चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ) और CJCSC (चेयरमैन जॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी) की नियुक्ति साथ में होती है। इसके लिए 4 स्टार रैंकिंग पा चुके जनरल्स दावेदारी करते हैं।

बाजवा ने आर्मी चीफ के पद पर एक्सटेंशन लेने से कर दिया था इनकार

  • पाकिस्तान में सेना प्रमुख की नियुक्ति तीन साल के लिए होती है, लेकिन जनरल बाजवा को राजनीतिक ड्रामे के बाद 2019 में तीन साल का अतिरिक्त कार्यकाल दिया गया।
  • इमरान खान की पार्टी PTI को सत्ता दिलाने में बाजवा की अहम भूमिका मानी जाती है, इसलिए इमरान ने उनका टेन्योर बढ़ाया। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने सर्विंग चीफ्स की फिर से नियुक्ति पर कानून की मांग की।
  • संसद ने जनवरी 2020 में कानून बनाया, जिसके तहत प्रधानमंत्री को सर्विंग चीफ्स के कार्यकाल का विस्तार करने की अनुमति मिली। हालांकि इसमें यह भी तय कर दिया गया कि 64 साल की उम्र में सर्विंग चीफ को हर हाल में रिटायर होना होगा। मौजूदा आर्मी चीफ जनरल बाजवा अभी केवल 61 वर्ष के हैं। वे चाहते तो एक्सटेंशन ले सकते थे।
  • पाकिस्तानी मिलिट्री सोर्सेस की तरफ से यह बात साफ कर दी गई है कि बाजवा नवंबर में रिटायर हो जाएंगे। पाकिस्तानी सेना की मीडिया विंग, यानी इंटर सर्विसेस पब्लिक रिलेशंस (ISPR) ने भी साफ कर दिया है कि आर्मी चीफ रिटायर हो रहे हैं।