--Advertisement--

दूतावास में हत्या / खशोगी हत्या मामले में अमेरिका की सऊदी को चेतावनी- दोषियों को मिलनी चाहिए कड़ी सजा



खशोगी की हत्या का मामला सामने आने के बाद पोम्पियो प्रिंस सलमान से मिलने सऊदी अरब पहुंचे थे। खशोगी की हत्या का मामला सामने आने के बाद पोम्पियो प्रिंस सलमान से मिलने सऊदी अरब पहुंचे थे।
Pompeo speaks with Saudi Prince over Khashoggi case
X
खशोगी की हत्या का मामला सामने आने के बाद पोम्पियो प्रिंस सलमान से मिलने सऊदी अरब पहुंचे थे।खशोगी की हत्या का मामला सामने आने के बाद पोम्पियो प्रिंस सलमान से मिलने सऊदी अरब पहुंचे थे।
Pompeo speaks with Saudi Prince over Khashoggi case

  • तुर्की अधिकारी सऊदी क्राउन प्रिंस के करीबियों पर लगा चुके हैं हत्या में शामिल होने का आरोप
  • सऊदी में शुरुआती जांच के बाद 5 अधिकारी बर्खास्त, 18 गिरफ्तार

Dainik Bhaskar

Nov 12, 2018, 10:12 AM IST

न्यूयॉर्क. वॉशिंगटन पोस्ट के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने रविवार को सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से फोन पर बात की। चर्चा के दौरान पोम्पियो ने प्रिंस सलमान से दोषियों को कड़ी सजा देने की बात कही। दोनों के बीच यमन में चल रहे गृहयुद्ध से लेकर तेल उत्पादन पर भी बातचीत हुई।

प्रतिबंध की धमकी दे चुका है अमेरिका

  1. पोम्पियो पहले भी दूतावास में खशोगी की हत्या को अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन बता चुके हैं। तब उन्होंने हत्या में शामिल लोगों पर प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी थी। हालांकि, तुर्की की तरफ से सऊदी पर आरोप लगाए जाने के बावजूद अभी तक अमेरिका ने कोई कदम नहीं उठाया। 

  2. इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सऊदी दूतावास में खशोगी की हत्या को सबसे खराब कवर-अप बता चुके हैं। इसके बावजूद उन्होंने सहयोगी सऊदी अरब पर किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की। 

  3. 2 अक्टूबर को लापता हुए थे खशोगी

    खशोगी तुर्की में रहने वाली अपनी मंगेतर हेटिस सेंगीज से निकाह करना चाहते थे। इसकी अनुमति के लिए वे 2 अक्टूबर को दस्तावेज लेने इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के दूतावास गए थे, लेकिन वहां से नहीं लौटे।

  4. सऊदी अरब के नागरिक रहे खशोगी वॉशिंगटन पोस्ट के लिए लिखते थे। उनके सऊदी के शाही परिवार से अच्छे रिश्ते थे, लेकिन बीते कुछ महीनों से वे प्रिंस सलमान के खिलाफ लिख रहे थे। 1980 के दशक में खशोगी ने ओसामा बिन लादेन का इंटरव्यू भी लिया था।
     

  5. 20 अक्टूबर को सऊदी ने कबूली थी हत्या

    खशोगी के लापता होने के बाद सऊदी अरब ने पहली बार 20 अक्टूबर को पत्रकार की हत्या होने की बात कबूल की थी। 2 अक्टूबर से सऊदी के अधिकारी बार-बार दावा कर रहे थे कि खशोगी दूतावास से सही-सलामत बाहर निकले थे।

  6. हत्या कबूलने के बाद सऊदी अरब की सरकार ने कहा कि शुरुआती जांच के बाद पांच उच्च अधिकारियों को नौकरी से निकाल दिया गया। वहीं, 18 को गिरफ्तार किया गया। 

  7. बर्खास्त किए जाने वालों में क्राउन प्रिंस सलमान मोहम्मद बिन सलमान के सलाहकार सऊद अल-क्वहतानी और डिप्टी इंटेलिजेंस चीफ मेजर जनरल अहमद अल-असीरी भी शामिल हैं।

  8. तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप अर्दोआन का दावा था कि इस मर्डर को अंजाम देने के लिए सऊदी से 15 सदस्यों की एक टीम 2 अक्टूबर को ही इस्तांबुल आई थी। अर्दोआन ने कहा कि तुर्की की सिक्योरिटी सर्विस के पास इसके पर्याप्त सबूत भी हैं।
     

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..