पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • International
  • Proper Cleaning Of The House Is Necessary During The Period Of Kareena, Experts Are Telling How To Clean Without Germs

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

न्यूयॉर्क टाइम्स से:काेराेना काल में ठीक ढंग से घर की साफ-सफाई जरूरी, विशेषज्ञ बता रहे हैं कैसे करें रोगाणु रहित सफाई

वॉशिंंगटन10 महीने पहलेलेखक: तारा पार्कर-पाेप
  • कॉपी लिंक
डिसइंफेक्टेंट के दावे का अर्थ है प्राेडक्ट बैक्टीरिया और वायरस दाेनाें काे खत्म या निष्क्रिय कर देता है। -प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
डिसइंफेक्टेंट के दावे का अर्थ है प्राेडक्ट बैक्टीरिया और वायरस दाेनाें काे खत्म या निष्क्रिय कर देता है। -प्रतीकात्मक फोटो
  • हम सतह पर डिसइंफेक्टेंट लगाकर तत्काल पाेंछ देते हैं, लेकिन उसे पर्याप्त वक्त नहीं मिल पाता
  • अलग-अलग स्प्रे क्लीनर और डिसइंफेक्टेंट पर 30 सेकंड से 4 मिनट तक समय लिखा हाेता है

काेराेनावायरस जबसे खतरा बना है, लाेग घर के भीतर हर चीज काे ज्यादा स्प्रे करके और पाेंछने लगे हैं। कई लाेग सतह पर स्प्रे कर एक-दाे बार पाेंछ देते हैं, लेकिन इससे किसी भी प्राेडक्ट काे काम करने का पर्याप्त वक्त नहीं मिल पाता। अलग-अलग स्प्रे क्लीनर और डिसइंफेक्टेंट पर 30 सेकंड से 4 मिनट तक समय लिखा हाेता है। ऐसे में सफाई का सही तरीका क्या है? बता रहे हैं इंफेक्शियस डिसीज साइंटिस्ट...

1. डिसइंफेक्टेंट कितनी देर तक सतह पर लगा रहने दें कि राेगाणु मर जाएं? 

इंफेक्शियस डिसीजेस के इंस्ट्रक्टर डाॅ. एंड्रयू जानाेवस्की कहते हैं, ‘यह जितनी अधिक देर सतह पर लगा रहे, उतना बेहतर है। प्राॅडक्ट का अनुशंसित समय जानने के लिए उसका लेबल पढ़ें। यह 30 सेकंड से कुछ मिनट हाे सकता है। कुछ प्राेडक्ट सैनिटाइज करने का दावा करते हैं, यानी वे बैक्टीरिया के स्तर काे कम करते हैं। डिसइंफेक्टेंट के दावे का अर्थ है प्राेडक्ट बैक्टीरिया और वायरस दाेनाें काे खत्म या निष्क्रिय कर देता है।

2. डिसइंफेक्टेंट के प्रयोग से पहले सतह साफ करने को कहा जाता है, दाे बार सफाई जरूरी है? 

यदि सतह पर भाेजन के अवशेष या मैल है ताे डिसइंफेक्टेंट के इस्तेमाल से पहले कूड़ा-करकट हटाना जरूरी है। गंदगी की परत रहेगी ताे बैक्टीरिया बचे रहेंगे। 

3. चार मिनट तक पाेंछना जरूरी है?

माइक्राेबायाेलाॅजिस्ट हैली ऑलिवर बताती हैं पाेंछे (वाइप) काे लैब में टेस्ट किया जाता है ताे उसमें शुरुआती पाेंछे से सतह के सूखने तक का समय शामिल हाेता है। उद्देश्य सतह सूखने तक पाेंछना हाेता है। सतह जल्द सूखे ताे पहले भी राेक सकते हैं।

4. काेराेना से बचने के लिए बेहतर क्लीनर?

प्राेडक्ट के लेबल से यह जान सकते हैं कि काैन सा क्लीनर कैसे वायरस काे मारता है। काेरानावायरस चूंकि नया है इसलिए इससे जुड़े प्राेडक्ट आने में समय लग सकता है। तब तक अन्य वायरस खत्म करने वाले प्राेडक्ट इस्तेमाल कर सकते हैं। इंफेक्शियस डिसीज विशेषज्ञ डाॅ. डेनियल कुरिट्ज्केस कहते हैं ये अनुशंसाएं व्यापक हैं, जाे काेराेना से दुष्कर स्टैफ और स्ट्रेप जैसे बैक्टीरिया काे मारने में लगने वाले समय पर आधारित हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

और पढ़ें