इमरान ने कहा- मौजूदा सिस्टम में नहीं रहूंगा:सभी असेंबली से इस्तीफा दूंगा, सभी CM, सांसदों से मुलाकात करूंगा

इस्लामाबाद2 महीने पहले

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने घोषणा की है कि उनकी पार्टी PTI के मेंबर्स सभी असेंबली से इस्तीफा देंगे। वे शनिवार को रावलपिंडी में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वे इस बारे में पार्टी के सभी CM और सांसदों से मुलाकात करेंगे। इमरान खान ने कहा कि ‘हम मौजूदा सिस्टम का हिस्सा नहीं रहेंगे। हमने सभी विधानसभाओं को छोड़ने और इस भ्रष्ट व्यवस्था से बाहर निकलने का फैसला लिया है।'

मालूम हो कि पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा और पंजाब में PTI की सरकार है।

इमरान ने कहा कि वे जल्द ही घोषणा करेंगे कि उनकी पार्टी विधानसभाओं को कब छोड़ेगी। इसके साथ ही इमरान ने अपने लॉन्ग मार्च को खत्म करने की घोषणा भी की। इमरान ने कहा कि पीटीआई ने किसी भी तरह की अराजकता से बचने के लिए इस्लामाबाद न जाने का फैसला किया है।

रावलपिंडी की रैली को संबोधित करने जाते पाकिस्तान के पूर्व पीए इमरान खान।
रावलपिंडी की रैली को संबोधित करने जाते पाकिस्तान के पूर्व पीए इमरान खान।

बम हमले का खतरा था
खुद पर हुए हमले के बाद इमरान पहली बार किसी रैली को संबोधित करने पहुंचे थे। उन्होंने कहा मैं मौत से डरता नहीं। वो तभी आती है जब अल्लाह चाहता है। उन्होंने कहा कि वो लोग फिर से मुझ पर हमले करने की फिराक में हैं। बता दें कि रावलपिंडी में इमरान की रैली को लेकर अलर्ट जारी किया गया था। इसमें बताया गया था कि उन पर बम से हमला हो सकता है। जिसके बाद उनकी सुरक्षा के लिए सरकार ने एलीट कमांडो तैनात किए गए।

इमरान बोले- मौत को करीब से देखा है
पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा- डर पूरे देश को गुलाम बना देता है। वह इसलिए आगे बढ़े, क्योंकि उन्होंने मौत को करीब से देखा है। यदि आप जीवन जीना चाहते हैं, तो मौत के भय को छोड़ दें। हमारा देश एक ऐसे टर्निंग पॉइंट पर खड़ा है, जिसके सामने दो ही रास्ते हैं। एक रास्ता आशीर्वाद और महानता का है जबकि दूसरा रास्ता अपमान और विनाश का है। इमरान ने कहा, मैं कहना चाहता हूं कि जिन्होंने अपनी संपत्ति में भारी इजाफा किया है और देश के अधिकारों को रौंदा है, इतिहास भी उनकी तरफ देख रहा है और लिख रहा है कि उन्होंने देश के साथ क्या किया।

तीन शूटर्स ने हत्या की कोशिश की
इमरान ने दावा किया कि वजीराबाद में तीन शूटर्स ने उनकी हत्या करने की कोशिश की। इमरान ने कहा, 'जब मैं नीचे गिरा तो मुझे पता था कि अल्लाह ने मुझे बचा लिया है।' इमरान ने दावा किया कि उनकी पार्टी चुनाव या राजनीति के लिए रावलपिंडी नहीं आई थी।

‘चोर’ कहा इसलिए सरकार कर रही अपमान
पीटीआई चीफ इमरान ने कहा कि शहबाज सरकार बार-बार उन्हें अपमानित करने की कोशिश कर रही है क्योंकि उन्होंने उन्हें 'चोर' कहा था। उन्होंने कहा कि देश को नए सिरे से चुनावों की जरूरत है और उन्हें इसकी परवाह नहीं है कि ये नौ महीने बाद होंगे क्योंकि जीत उनकी पार्टी की ही होगी।

बिलावल बोले-फ्लाप शो
इमरान की घोषणा को पाकिस्तान के मंत्री बिलावल भुट्‌टो जरदारी ने फ्लाप शो करार दिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा ‘ पीटीआई का चेहरा बचाने वाला फ्लॉप शो एंटीक्लामैटिक है। यह रिवोल्यूशन की भीड़ को खींचने में असमर्थ रहा। नए प्रमुखों की नियुक्तियों को कमजोर करने में विफल रहे, और निराश हैं। इस्तीफे के नाटक का सहारा लिया जा रहा है। रावलपिंडी से इमरान की मांग आजादी नहीं बल्कि फिर से चुने जाने की है। कब तक केपी और पंजाब को राजनीतिक सहारे के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा?

नए सेना प्रमुख की नियुक्ति के दो दिन बाद लॉन्ग मार्च खत्म किया
इमरान ने अपने लॉन्ग मार्च को खत्म करने और विधानसभाओं से इस्तीफे की घोषणा लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर के पाकिस्तानी सेना के नए प्रमुख बनने के दो दिन बाद की है। जाहिर है कि इमरान ने न चाहते हुए भी स्वीकार कर लिया है कि पाकिस्तान में चुनाव अब नौ महीने बाद यानी अपने निर्धारित समय पर ही होंगे।

इमरान खान पर हमले से जुड़ी अन्य खबरें यहां पढ़ें...
इमरान को गोली मारने जा रहा था हमलावर, इब्तिसाम फरिश्ता बन आ गए

गुजरांवाला में 3 नवंबर को रैली के दौरान हुई फायरिंग में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान बाल-बाल बच गए। उनके पैर में गोलियां लगी हैं। इस फायरिंग में इमरान की जान भी जा सकती थी, लेकिन उनके कंटेनर से सिर्फ 10 फीट की दूरी पर मौजूद इब्तिसाम ने अनहोनी को रोक दिया। पढ़ें पूरी खबर...

खबरें और भी हैं...