तलाश जारी:मियामी में ढही इमारत के बचे हिस्से को गिराया गया, ताकि गैराज तक पहुंचा जा सके, भारतीय परिवार का भी अब तक पता नहीं

फ्लोरिडा (अमेरिका)7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेस्क्यू टीम का कहना है कि भूमिगत गैराज तक पहुंचने के लिए यह जरूरी है, जिससे शवों को निकाला जा सके। - Dainik Bhaskar
रेस्क्यू टीम का कहना है कि भूमिगत गैराज तक पहुंचने के लिए यह जरूरी है, जिससे शवों को निकाला जा सके।

मियामी के सर्फसाइड (मियामी) में 24 जून को शैम्प्लेन टावर्स की ढही इमारत के मलबे में फंसे लोगों की तलाश करने के लिए उसके बचे हुए हिस्से को भी रविवार रात विस्फोट कर गिरा दिया गया। रेस्क्यू टीम का कहना है कि भूमिगत गैराज तक पहुंचने के लिए यह जरूरी है, जिससे शवों को निकाला जा सके।

दमकल विभाग के सहायक प्रमुख राइडे जदाल्ला का कहना है कि बचाव एवं तलाशी अभियान बाधित हुआ है लेकिन इससे हम आगे बढ़ सकेंगे। गौरतलब है कि सर्फसाइड में 24 जून को 12 मंजिला इमारत का एक हिस्सा ढह गया था। मलबे से अभी तक 24 लोगों के शव बरामद हुए हैं और 124 लोग अब भी लापता हैं। इसमें एक भारतीय पटेल परिवार भी शामिल है।

हादसे की वजह: इमारत में दरारें थीं

जांच में पता चला था कि 12 मंजिला इमारत में कई जगह दरारें थीं। 3 साल पहले इंजीनियरों ने चेताया भी था कि बड़ा हादसा हो सकता है।

ऐसी थी इमारत: शैम्प्लेन के 4 टावर

हादसे में शैम्प्लेन टावर्स के तीन बड़े हिस्से हिस्से गिरे थे। सामने स्वीमिंग पूल था। इन 4 टावर्स में कुल 156 फ्लैट्स थे।