• Hindi News
  • International
  • Robots delivering food and medicines to hospitals in China; Twitter user wrote This will help prevent virus.

कोरोनावायरस / चीन के अस्पतालों में रोबोट खाना और दवाइयां बांट रहे; ड्रोन से कराई जा रहीं मॉस्क लगाने समेत जरूरी घोषणाएं

रोबोट्स की मदद से कोरोनावायरस को रोकने में मदद मिल सकती है।
ड्रोन की मदद से लोगों को मॉस्क लगाने समेत जरूरी सलाह दी जा रही। ड्रोन की मदद से लोगों को मॉस्क लगाने समेत जरूरी सलाह दी जा रही।
X
ड्रोन की मदद से लोगों को मॉस्क लगाने समेत जरूरी सलाह दी जा रही।ड्रोन की मदद से लोगों को मॉस्क लगाने समेत जरूरी सलाह दी जा रही।

  • मरीजों ने ट्वीट कर रोबोट के जरिए अस्पतालों में मिल रहीं सुविधाओं की जानकारी दी
  • चीन में मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर ली वेनलियांग की 7 फरवरी को मौत हो गई थी

दैनिक भास्कर

Feb 10, 2020, 08:52 AM IST

बीजिंग. कोरोनावायरस से जूझ रहा चीन रोकथाम के लिए नई तकनीक अपना रहा है। यहां के अस्पतालों में इलाज करवा रहे मरीजों को खाना और दवाइयां रोबोट की मदद से पहुंचाई जा रही हैं ताकि डॉक्टरों और सपोर्टिंग स्टाफ को संक्रमण से दूर रखा जा सके। इसके अलावा ड्रोन की मदद से लोगों को मॉस्क लगाने और अन्य जरूरी घोषणाएं कराई जा रही हैं। चीन में कोरोनावायरस के प्रकोप के बारे में सबसे पहले आगाह करने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की 7 फरवरी को संक्रमण के बाद मौत हो गई थी। वह पीड़ितों का इलाज कर रहे थे।

मरीज अस्पताल में मिल रही सुविधाओं की जानकारियां ट्विटर पर साझा कर रहे हैं। एक यूजर ने वीडियो पोस्ट किया, जिसमें मरीजों को रोबोट खाना परोसते और दवाइयां बांटते नजर आए। अन्य मरीज ने ट्वीट किया, “मैं यह सारी सुविधाएं पाकर अच्छा महसूस कर रहा हूं। रोबोट को स्टाफ की तरह प्रशिक्षित किया गया है। यह अच्छा काम है। रोबोट वायरस को फैलने से रोकने में मदद कर सकता है। वह आइसोलेशन वार्ड में मरीजों को खाना परोसता है और खाने की प्लेट्स हटाता है।”

कोरोनावायरस का संक्रमण 27 से ज्यादा देशों में फैला

चीन में वायरस के संक्रमण से अब तक 908 लोगों की मौत हो चुकी है। इससे होने वाली मौतों ने सार्स को पीछे छोड़ दिया है। वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने बताया कि सार्स 2002-03 में 26 देशों में फैला था और 9 महीने में 774 लोगों की जान गई थी। जबकि कोरोनावायरस की चपेट में 27 से ज्यादा देश हैं। डब्ल्यूएचओ पहले ही इसे हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर चुका है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना