फिदायीन हमला:रूस के स्कूल में 18 साल के स्टूडेंट ने खुद को बम से उड़ाया, मौत- 8 छात्र घायल

मॉस्कोएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रूस की राजधानी मॉस्को से करीब 100 किलोमीटर दूर एक स्कूल में एक छात्र ने खुद को बम से उड़ा लिया। इस छात्र की मौत हो गई है। घटना के वक्त उसके आसपास कई दूसरे स्टूडेंट्स भी मौजूद थे। इनमें से 8 घायल बताए गए हैं, एक की हालत गंभीर है। खुद को बम से उड़ाने वाले स्टूडेंट की पहचान सार्वजनिक नहीं की गई है। पुलिस के मुताबिक, इस मामले की जांच शुरू कर दी गई है। मारे गए छात्र के दोस्तों से पूछताछ की जा रही है।

मामला साफ नहीं
घटना के बारे में अलग-अलग रिपोर्ट्स सामने आई हैं। रूस की न्यूज एजेंसी तास ने कहा है कि मारा गया छात्र ऑर्थोडॉक्स स्कूल ऑफ वेडेनेस्की मॉन्टेसरी का छात्र था। कुछ रिपोर्ट्स में उसे पूर्व छात्र बताया गया है। यह स्कूल करीब 100 साल पुराना है और रूस के सबसे बेहतरीन स्कूल्स में से एक माना जाता है। लोकल टाइम के मुताबिक, घटना सुबह करीब 8 बजे हुई।

दूसरे छात्रों से झगड़ा
रिपोर्ट्स के मुताबिक, मारे गए छात्र का अपने कुछ साथियों से विवाद चल रहा था। वो मॉर्निंग प्रेयर्स के दौरान हमला करना चाहता था, ताकि ज्यादा नुकसान हो। हालांकि, बम स्कूल के गेट पर ही फट गया। आठ छात्र घायल बताए गए हैं, इनमें से एक गंभीर है। मई में 19 साल के एक युवक ने कजान स्कूल में फायरिंग की थी। इसमें 9 स्टूडेंट्स मारे गए थे।

रूस की होम मिनिस्ट्री ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। मंत्रालय ने शुरुआती बयान में कहा था कि हमलावर छात्र गंभीर रूप से घायल है, उसके दोनों पैर खराब हो चुके हैं।

राइफल शूटिंग का शौकीन
मॉस्को टाइम्स के मुताबिक, मारा गया छात्र राइफल शूटिंग का शौकीन था। उसे स्कूल के कुछ दूसरे स्टूडेंट्स और टीचर्स पसंद नहीं करते थे। इसी वजह से कई बार उसे परेशान भी किया जाता था। हालांकि, उसका रवैया बेहद दोस्ताना और शांत बताया गया है।