रूस-यूक्रेन जंग अपडेट्स:रूस का यूक्रेन के स्कूल में बनाए गए शेल्टर पर हमला, 60 की मौत; जिल बाइडेन यूक्रेन पहुंचीं

कीव/मॉस्को15 दिन पहले
रूस ने यूक्रेन के लुहांस्क में एक स्कूल पर हवाई हमले किए।

रूस ने रविवार तड़के यूक्रेन के लुहांस्क में एक स्कूल पर हवाई हमले किए। यूक्रेन सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया- यह बमबारी बिलोहोरिखिवा गांव के एक स्कूल पर की गई। यहां आम नागरिकों को हमलों से बचाने के लिए शेल्टर बनाया गया था। यह गांव फ्रंट लाइन से कुछ किलोमीटर दूर है। कुल 90 लोग वहां थे। 30 को बचा लिया गया है। 60 के मारे जाने की आशंका है। हमला उस वक्त हुआ जब शेल्टर में पनाह लेने वाले सभी लोग नींद में थे। इस बीच, अमेरिका की फर्स्ट लेडी जिल बाइडेन यूक्रेन पहुंचीं हैं।

लुहांस्क के स्कूल को रूसी सैनिकों ने तबाह कर दिया। यहां करीब 90 लोगों ने शरण ली हुई थी।
लुहांस्क के स्कूल को रूसी सैनिकों ने तबाह कर दिया। यहां करीब 90 लोगों ने शरण ली हुई थी।
हमले के बाद रेस्क्यू टीम ने मलबे में दबे 30 लोगों को बाहर निकाला।
हमले के बाद रेस्क्यू टीम ने मलबे में दबे 30 लोगों को बाहर निकाला।
7 महिलाएं गंभीर रूप से घायल हुई हैं। इलाज के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया है।
7 महिलाएं गंभीर रूप से घायल हुई हैं। इलाज के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया है।

जिल बाइडेन यूक्रेन पहुंचीं
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की पत्नी जिल बाइडेन रविवार को अचानक यूक्रेन पहुंचीं। यहां उन्होंेने यूक्रेन की फर्स्ट लेडी ओलेना जेलेंस्का से मुलाकात की। ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ के मुताबिक, जेलेंस्का और जिल की मुलाकात उजहोरोद कस्बे में हुई। यह स्लोवाकिया की सीमा से सटा हुआ 1 लाख की जनसंख्या वाला इलाका है। फरवरी में रूसी हमले के बाद जेलेंस्का पहली बार नजर आई हैं। उन्होंने कहा- हम जानते हैं कि यूएस की फर्स्ट लेडी का यहां आना हमारे देश के लिए कितना अहम है।

रविवार को अमेरिकी राष्ट्रपति की पत्नी जिल बाइडेन का स्वागत करतीं यूक्रेनी प्रेसिडेंट वोलोदिमिर जेलेंस्की की पत्नी ओलेना जेलेंस्का (दाएं)।
रविवार को अमेरिकी राष्ट्रपति की पत्नी जिल बाइडेन का स्वागत करतीं यूक्रेनी प्रेसिडेंट वोलोदिमिर जेलेंस्की की पत्नी ओलेना जेलेंस्का (दाएं)।

यूक्रेन के खिलाफ कल युद्ध का ऐलान कर सकते हैं पुतिन
रूस हर साल 9 मई को विक्ट्री डे मनाता है। सेकेंड वर्ल्ड वॉर में इस दिन रूसी सेना ने हिटलर की नाजी आर्मी को हरा दिया था। मीडिया रिपोर्ट्स का दावा है कि इस दिन की अहमियत को देखते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन 9 मई को ही यूक्रेन के खिलाफ युद्ध का ऐलान कर सकते हैं। अब तक रूस यूक्रेन पर हमले को सिर्फ एक ‘स्पेशल ऑपरेशन’ कहता रहा है। हालांकि, दुनिया की नजर में यह सिर्फ तकनीकी मामला है, क्योंकि यूक्रेन पर रूस का हमला सीधे तौर पर ‘फुल स्केल वॉर’ ही है।

दूसरी तरफ, यूक्रेन को पश्चिमी देशों मदद मिलना लगातार जारी है। अब यूक्रेनी आर्मी को तुर्की में बने 12 बेयरेकतार टीबी-2 ड्रोन मिले हैं। न्यूज वेबसाइट हैबरलर के मुताबिक, पिछले 8 साल में तुर्की ने 400 से ज्यादा बेयरेकतार टीबी-2 ड्रोन डेवलप किए हैं और इनमें से 96 बेच दिया। इस ड्रोन को काफी एडवांस माना जाता है।

रूस-यूक्रेन जंग के प्रमुख अपडेट्स...

  • ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन यूक्रेन को 1.3 अरब पाउंड की सैन्य मदद भेजेंगे।
  • यूक्रेन का कहना है कि उन्होंने 7 मई को पूर्वी यूक्रेन में 107 रूसी सैनिकों को मार गिराया।
  • यूक्रेन कैबिनेट ने देश चलाने के लिए वर्ल्ड बैंक से 1.5 अरब डॉलर कर्ज लेने के मसौदे को मंजूरी दी।

ग्राफिक्स से समझिए रूस यूक्रेन युद्ध का सूरते हाल...

मारियुपोल स्टील प्लांट से सभी महिलाओं और बच्चों​ को निकाला​​​​​​
मारियुपोल के अजोवस्टल स्टील प्लांट में फंसे भी महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों निकाल लिया गया है। यूक्रेन के उप प्रधान मंत्री इरीना वीरेशचुक ने इस बारे में जानकारी दी। हालांकि, अभी कुछ यूक्रेनी सैनिक यहां फंसे हुए हैं, जिन्हें निकालने का काम जारी है।

तुर्कमेनिस्तान और ताजिकिस्तान यूक्रेन को सौंपे फाइटर जेट
तुर्कमेनिस्तान और ताजिकिस्तान ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के दबाव को दरकिनार कर 7 हेलिकॉप्टर और फाइटर जेट यूक्रेन को सौंप दिए हैं। दरअसल, बीते साल अगस्त में अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता पर कब्जा कर लेने के बाद अफगान पायलट अपने विमानों को तुर्कमेनिस्तान और ताजिकिस्तान ले गए थे।

अफगान सेना के 57 लड़ाकू विमान अब भी तुर्कमेनिस्तान- ताजिकिस्तान में हैं। दोनों देशों ने इन्हें भी यूक्रेन को देने का ऐलान किया है। अमेरिका की मौजूदगी के समय अफगान सेना के पास 131 विमान थे। शेष विमान अभी तालिबान सरकार के पास हैं।

खबरें और भी हैं...