• Hindi News
  • International
  • Russia Ukraine War Situation Updates; Volodymyr Zelenskyy Vladimir Putin | Russia Mariupol Control

रूस-यूक्रेन जंग अपडेट्स:पुतिन ने कहा- पश्चिमी देश हम पर साइबर हमले कर रहे; यूक्रेन का दावा- अब तक 28 हजार से ज्यादा रूसी सैनिकों की मौत

कीव/मॉस्कोएक महीने पहले

रूस और यूक्रेन के बीच 24 फरवरी को शुरू हुई जंग अभी जारी है। इसी बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कहा कि उनके देश पर साइबर हमला किया जा रहा है। उन्होंने पश्चिमी देशों पर आरोप लगाते हुए कहा की रूस को पश्चिम की ओर से साइबर हमलों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इन हमलों को सफलतापूर्वक नाकाम किया जा रहा है।

इधर, यूक्रेन ने दावा किया है कि जंग की शुरूआत से अब तक 28,850 रूसी सैनिकों ने जान गवांई है। वहीं, 1,278 रूस के टैंक को यूक्रेनी सैनिकों ने तबाह कर दिया है।

रूस ने यह भी दावा किया कि सेना ने यूक्रेन के मारियुपोल पर कब्जा कर लिया है। रूस ने इसे यूक्रेन के खिलाफ अब तक की अपनी सबसे बड़ी जीत बताया।
रूस ने यह भी दावा किया कि सेना ने यूक्रेन के मारियुपोल पर कब्जा कर लिया है। रूस ने इसे यूक्रेन के खिलाफ अब तक की अपनी सबसे बड़ी जीत बताया।

रूस-यूक्रेन जंग के प्रमुख अपडेट्स...

  • रूस ने दावा किया है कि उसके सैनिकों ने यूक्रेन में हथियारों की बड़ी खेप को तबाह कर दिया है। ये हथियार पश्चिमी देशों ने यूक्रेन की मदद के लिए भेजे थे।
  • रूस का दावा है कि मारियुपोल के स्टील प्लांट में छिपे 2,439 यूक्रेनी लड़ाकों ने रूसी सैनिकों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है।
  • फिनलैंड की प्रमुख गैस कंपनी गैसम ने कहा है कि रूस शनिवार से उसे नेचुरल गैस की सप्लाई देना बंद कर देगा।
  • अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने दुनियाभर में इमरजेंसी फूड क्राइसिस से निपटने के लिए 2.3 अरब डॉलर देने की घोषणा की है।
  • रूसी सेना ने लुहांस्क इलाके के एक स्कूल पर गोले दागे, यहां 200 से अधिक लोग शरण लिए हुए थे। तीन लोगों की मौत हो गई।

यूक्रेनी सैनिक का पत्नी को इमोशनल मैसेज- शायद अब हम न मिल पाएं
CBS न्यूज की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्लीट प्लांट में छिपे सैनिक अपनी पत्नियों को इमोशनल मैसेज भेज रहे हैं। इसमें वो जिक्र कर रहे हैं कि शायद अब हम कभी वापस नहीं आएंगे। प्लांट में छिपे यूक्रेनी सैनिक मरीन की पत्नी ओल्गा बोइको अपने आंसू पोछते हुए बताती हैं, गुरुवार को उनके पति ने लिखा- अब हम रूसी सेना के सामने आत्मसमर्पण कर रहे हैं। मुझे नहीं पता अब हम कभी मिल पाएंगे या नहीं।

रूस की राज्य समाचार एजेंसी आरआईए नोवोस्ती ने मंत्रालय के हवाले से कहा, अजोवस्टल में छिपे हुए 500 और यूक्रेनी लड़ाकों ने रूस के सामने हथियार डाल दिए हैं। इस तरह से सोमवार से शुक्रवार तक 2,439 यूक्रेनी लड़ाकों ने रूसी सैनिकों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। हालांकि, अभी तक यूक्रेन की ओर से इस बारे में कोई बयान नहीं आया है। इस जंग में अब तक यूक्रेन के 20 हजार से अधिक नागरिकों के मारे जाने का आशंका है।

CBS न्यूज के मुताबिक, ये तस्वीर मारियुपोल के स्टील प्लांट में छिपे यूक्रेनी सैनिकों की है। जो अब रूसी सेना के सामने आत्मसमर्पण कर रहे हैं।
CBS न्यूज के मुताबिक, ये तस्वीर मारियुपोल के स्टील प्लांट में छिपे यूक्रेनी सैनिकों की है। जो अब रूसी सेना के सामने आत्मसमर्पण कर रहे हैं।

दुनिया में बढ़ रहा भोजन की कमी का खतरा
संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत लिंडा थॉमस-ग्रीनफील्ड ने BBC को बताया इस जंग से दुनियाभर में भोजन की कमी का खतरा बढ़ता जा रहा है। उन्होंने बताया कि रूस ने यूक्रेन के बंदरगाहों पर एक तरह से कब्जा कर लिया है। इससे दुनियाभर में भोजन की कमी की आशंका का स्तर 10 पर पहुंच गया है। अगर स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो भविष्य में बड़े संकट से निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए।

रूस ने यूक्रेन के कल्चर सेंटर पर दागीं मिसाइलें
यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने कहा कि पूर्वोत्तर खार्किव इलाके में रूस ने मिसाइल हमले किए हैं। सेना ने एक कल्चरल सेंटर को निशाना बनाया, इसमें 7 लोग घायल हो गए। जेलेंस्की ने रूस की इस कार्रवाई की निंदा की है। उन्होंने कहा, 'रूस सांस्कृतिक केंद्रों, स्कूलों को निशाना बना रहा है। ऐसी जगहों पर हमला करने वाले लोगों के दिमाग में क्या चल रहा होगा?'

ओक्साना एक वॉलियंटियर्स सेंटर में काम करती हैं, जो लोगों के पुराने कपड़े और जरूरत की चीजें इकट्ठा कर लोगों की मदद करता है।
ओक्साना एक वॉलियंटियर्स सेंटर में काम करती हैं, जो लोगों के पुराने कपड़े और जरूरत की चीजें इकट्ठा कर लोगों की मदद करता है।

70 साल की ओक्साना ने बताया कि वे लीव के बाहरी इलाके में वॉलियंटियर्स सेंटर में काम करती हैं। यह सेंटर लोगों के पुराने कपड़े और जरूरत की चीजें इकट्ठा करता है और इस सामान को जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाता है। उन्होंने बताया कि मार्च की शुरुआत से वे इस सेंटर से जुड़ी थीं और तब से यहां आने वाले डोनेशन में कमी आई है। ओक्साना ने कहा कि इस मुश्किल समय में मैं घर नहीं बैठ सकती। मैं कुछ अच्छा करना चाहती हूं।

यूलिया मुद्रीत्स्का यूक्रेन के नोवोसेलिव्का गांव में रूस के हमले के बाद अपनी दादी के घर से मलबा हटा रही हैं।
यूलिया मुद्रीत्स्का यूक्रेन के नोवोसेलिव्का गांव में रूस के हमले के बाद अपनी दादी के घर से मलबा हटा रही हैं।

​​​​रूस और यूक्रेन की बीच चल रही जंग से रुलाने वाले और हिम्मत देने वाली तस्वीरें लगातार सामने आ रही हैं। अब 28 साल की यूलिया मुद्रीत्स्का की तस्वीर सामने आई है। यूलिया यूक्रेन के नोवोसेलिव्का गांव में रूस के हमले के बाद अपनी दादी के घर से मलबा हटा रही हैं। जब गांव में रहने वाले अन्य लोग मलबा हटाने के लिए मदद का इंतजार कर रहे हैं, ऐसे में यूलिया मदद का इंतजार किए बिना खुद ही काम शुरू कर देती हैं। रूसी सेना के हमले से पहले इस गांव में करीब 900 लोग रहते थे, लेकिन हमले के बाद 80% लोग अपनी जान बचाने के लिए यहां से भाग गए हैं।