• Hindi News
  • International
  • Russia Ukraine War Situation Updates; Vladimir Putin, Volodymyr Zelensky | Microsoft On Russia Hacking

रूस-यूक्रेन जंग:यूक्रेन का साथ देने वाले देशों की हैकिंग कर रहा रूस, रिपोर्ट से पता चला- जर्नलिस्ट माक्स की हत्या साजिश थी

कीव12 दिन पहले

Microsoft ने बुधवार को एक रिपोर्ट में दावा किया है कि यूक्रेन के साथ जंग शुरू होने के बाद से रूस ने यूक्रेन और उसका साथ देने वाले देशों के खिलाफ हैकिंग की कोशिश तेज कर दी है। रूस, अमेरिकी और उसके सरकारी कंप्यूटर नेटवर्क को भी निशाना बना रहा है। Microsoft के अनुसार, रूस ने कथित हैकिंग से 42 देशों की खुफिया जानकारी जुटाई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि रूस हैकिंग के प्रयासों में 29% बार सफल रहा और इन प्रयासों में उसे 7.25% बार डाटा चोरी करने में सफलता मिली है। रूसी सेना ने लुहान्स्क और डोनेट्स्क इलाकों में लगातार बमबारी कर रहा है। रूस ने ड्रुज़्किवका शहर में भी एक मिसाइल हमला किया। इसमें 2 यूक्रेनी सैनिक घायल हो गए। यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि दुश्मन कई दिशाओं से आगे बढ़ रहा है।

फोटो जर्नलिस्ट माक्स लेविन की हत्या साजिश: रिपोर्ट
रूस और यूक्रेन की बीच जंग करीब 4 महीनों से जारी है। इसी बीच रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (Reporters Without Borders) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि रूसी सैनिकों ने साजिश के तहत यूक्रेनी फोटो जर्नलिस्ट माक्स लेविन और उसके दोस्त ओलेक्सी चेर्निशोव की हत्या की थी। रिपोर्ट में दावा किया गया कि 13 मार्च को यूक्रेन की राजधानी कीव के पास एक जंगल में जर्नलिस्ट की हत्या की गई थी। पहले रूसी सैनिकों ने माक्स और उसके दोस्त से पूछताछ की। बाद में उन्हें यातनाएं दी गईं फिर उनकी हत्या कर दी।

माक्स ने तस्वीरों से युद्ध की तबाही को दिखाया
फोटो जर्नलिस्ट की मौत के मामले की जांच करने के लिए 24 मई और 3 जून के बीच दो इनवेस्टिगेटर यूक्रेन गए थे। उन्होंने मौके पर सबूत जुटाए। मौके पर माक्स, उसके दोस्त के आई कार्ड और कई गोलियां पड़ी मिलीं। RSF ने कुछ रूसी सैनिकों को पहचान भी की है, उन्होंने बताया कि ये माक्स और ओलेक्सी को अपने साथ ले गए थे।

इनवेस्टिगेटर ने दावा किया है कि माक्स और उसके दोस्त की हत्या सोची समझी साजिश थी। फोटो जर्नलिस्ट माक्स लेविन शुरूआत से रूस-यूक्रेन जंग को कवर कर रहे थे, जंग की दौरान उन्होंने कई शहरों से युद्ध की तबाही की तस्वीरें क्लिक की थीं।

13 मार्च के बाद से माक्स लापता हो गए थे, अंतिम बार उन्हें कीव क्षेत्र के विशगोरोड जिले के हुता-मेझीहिरस्का गांव के जाते हुए देखा गया था। 1 अप्रैल को माक्स का शव बरामद हुआ था। मौत के बाद उन्हें ऑर्डर फॉर करेज (तृतीय श्रेणी) से सम्मानित किया गया था।