• Hindi News
  • International
  • Saeed And Amir Were Punished For Raising Their Voice Against The Atrocities Of The Army And The Government

पाक सेना के खिलाफ बोलने पर 2 पत्रकार गिरफ्तार:सेना और सरकार के जुल्मों के खिलाफ आवाज उठाने की सईद और आमिर को मिली सजा

लाहौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एफआईए ने एक अन्य पत्रकार सईद शौकत इमरान को भी लाहौर से सुबह के समय गिरफ्तार कर लिया है। - Dainik Bhaskar
एफआईए ने एक अन्य पत्रकार सईद शौकत इमरान को भी लाहौर से सुबह के समय गिरफ्तार कर लिया है।

पाकिस्तान में सेना और सरकार के जुल्म के खिलाफ आवाज उठाने वाले लगातार निशाने पर लिए जा रहे हैं। लाहौर में वरिष्ठ पत्रकार सईद इमरान शौकत का उनके घर से अपहरण कर लिया गया है। इसके अलावा देश की सेना पर बरसने वाले वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर के भाई आमिर मीर भी गायब हैं। हामिद मीर ने खुदे भाई को लेकर जानकारी दी है।

उन्होंने बताया है, ‘एफआईए की साइबर क्राइम विंग ने लाहौर से सुबह के समय पत्रकार आमिर मीर का अपहरण कर लिया है। उनसे उनका फोन और लैपटॉप छीन लिया गया। हमें पांच घंटे बाद उनकी लोकेशन के बारे में पता चला। एफआईए ने एक अन्य पत्रकार सईद शौकत इमरान को भी लाहौर से सुबह के समय गिरफ्तार कर लिया है।’ लोग इन अपहरण के लिए खुफिया एजेंसी आईएसआई को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

हामिद ने सेना प्रमुख बाजवा पर साधा था निशाना
पाकिस्तानी पत्रकार हामिद मीर अक्सर सेना के दमन के मुद्दे उठाते रहे हैं। उन्होंने सैन्य प्रमुख कमर जावेद बाजवा तक का नाम लेकर चिंता जताई थी। हामिद मीर ने कहा था कि आप हमारे घर पर हमला करने के लिए घुसते हैं, तो ठीक है, लेकिन हम ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि आपके पास तो टैंक और बंदूके हैं। लेकिन हम उन चीजों को सार्वजनिक कर सकते हैं, जो आपके घरों में हो रही हैं। इसके बाद सरकार ने उनके शो तक पर रोक लगा दी थी।

अक्षमता छिपाने के लिए उत्पीड़न

इस बीच, पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने पत्रकार आमिर मीर और इमरान शफकत की गिरफ्तारी की कड़ी निंदा की है और उनकी रिहाई की मांग की है। बिलावल ने कहा, ‘इमरान खान अपनी अक्षमता और विफलताओं को छिपाने के लिए राजनीतिक विरोधियों और मीडिया आलोचकों का उत्पीड़न जारी रखते हैं।’