बाइडेन का पुतिन पर तंज:कॉमेडियन से बोले- यह मॉस्को नहीं, यहां राष्ट्रपति का मजाक उड़ाने पर जेल नहीं होगी

वॉशिंगटन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन एक कार्यक्रम के दौरान रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन पर तंज कसते नजर आए। दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति भवन में कॉरेस्पॉन्डेंट एसोसिएशन डिनर का आयोजन किया गया था। इस प्रोग्राम को कॉमेडियन ट्रेवर नोआह होस्ट कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने बाइडेन का काफी मजाक उड़ाया। जिसके बाद बाइडेन ने कहा कि यह मॉस्को नहीं है और आप राष्ट्रपति का मजाक उड़ाने के लिए जेल नहीं जाएंगे।

इस दौरान राष्ट्रपति बाइडेन का इशारा पुतिन के आलोचक एलेक्सी नवेलनी की तरफ था, जो फिलहाल जेल में बंद हैं। कार्यक्रम को संबोधित करने के बाद बाइडेन ने होस्टिंग के लिए ट्रेवर नोआह को स्टेज पर बुलाया। उन्होंने कहा- अब स्टेज ट्रेवर संभालेंगे और ट्रेवर अब आप अमेरिका के राष्ट्रपति को रोस्ट कर सकते हैं। और कमाल की बात ये है कि इसके लिए आप जेल भी नहीं जाएंगे। यहां वे एलेक्सी नवेलनी का जिक्र कर रहे थे। नवेलनी खुले तौर पर पुतिन के खिलाफ बोलते रहते हैं।

ट्रेवर नोआह ने बाइडेन को रोस्ट करने के बाद भी पूछा- मैंने अमेरिका के राष्ट्रपति का मजाक उड़ाया, क्या मैं ठीक रहुंगा? इसके जवाब में बाइडेन ने कहा- आप जेल नहीं जाएंगे।
ट्रेवर नोआह ने बाइडेन को रोस्ट करने के बाद भी पूछा- मैंने अमेरिका के राष्ट्रपति का मजाक उड़ाया, क्या मैं ठीक रहुंगा? इसके जवाब में बाइडेन ने कहा- आप जेल नहीं जाएंगे।

नवेलनी को हुई 9 साल की जेल
रिपोर्ट्स के मुताबिक, 2020 में एलेक्सी नवेलनी को जहर देने की कोशिश की गई थी। उस समय, नवेलनी साइबेरिया से मॉस्को जा रहे एक विमान में बीमार पड़ गए थे। फिर उन्हें इलाज के लिए जर्मनी ले जाया गया था। ठीक होने पर वे रूस लौटे जिसके बाद नवेलनी को गिरफ्तार कर लिया गया। उन पर धोखाधड़ी और गबन के आरोप लगाए गए। नवेलनी को 9 साल की सजा सुनाई गई है।

नवेलनी ने 2013 में मॉस्को के मेयर का चुनाव लड़ा था, उन्हें 30% वोट मिले थे। जब उन्होंने 2016 में राष्ट्रपति चुनाव लड़ने का ऐलान किया तो सरकार ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया।
नवेलनी ने 2013 में मॉस्को के मेयर का चुनाव लड़ा था, उन्हें 30% वोट मिले थे। जब उन्होंने 2016 में राष्ट्रपति चुनाव लड़ने का ऐलान किया तो सरकार ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रूस में साल 2021 में सिविल राइट्स एक्टिविस्ट करीम यामादायेव को पुतिन का मजाक उड़ाने पर सजा सुनाई गई थी। हालांकि उसे एक साल बाद रिहा कर दिया गया था।

यूक्रेन जंग का भी जिक्र
प्रोग्राम में नोआह ने अमेरिकी लोकतंत्र की तारीफ की। साथ ही यूक्रेन में रूस के हमले की आलोचना की। नोआह ने कहा- हम लोकतंत्र के हित में हैं। अगर आपको कभी अपनी जिम्मेदारियों के बारे में डाउट हो तो ये देख लीजिएगा कि यूक्रेन में क्या हो रहा है। वहां क्या हो रहा है, इसे दिखाने के लिए अमेरिका और दुनियाभर के पत्रकार खतरा मोल ले रहे हैं। अमेरिका में आपको सच जानने और बोलने का अधिकार है। भले ही यह कुछ लोगों को असहज क्यों ना कर दे। लेकिन क्या आप समझ रहे हैं, यह कितना बेहतरीन है।

खबरें और भी हैं...