पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सऊदी अरब पर मिसाइल हमला:तेल के भंडार वाले इलाकों पर तीन मिसाइलें दागी गईं, सऊदी ने इन्हें बीच हवा में नष्ट किया; दो बच्चे घायल

19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सऊदी अरब पर शनिवार को तीन मिसाइलों से हमला किया गया। इन्हें तेल के भंडारों वाले सऊदी के पूर्वी इलाकों की तरफ दागा गया था। तीनों मिसाइलों को सऊदी अरब ने हवा में ही नष्ट कर दिया लेकिन दम्माम शहर में छर्रो के बिखरने से दो सऊदी बच्चे घायल हो गए और 14 घरों को हल्का नुकसान हुआ है।

सऊदी अरब के पड़ोसी देश यमन के हूती विद्रोही लंबे समय से सऊदी को निशाना बना रहे हैं। इन्हें ईरान का समर्थन मिला हुआ है। सऊदी अरब में हूती सेना से लड़ रहे गुट ने आरोप लगाया है शनिवार का हमला भी हूती विद्रोहियों ने ही किया है। हालांकि हूती विद्रोहियों ने अभी तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

सऊदी अरब की सेना ने बताया कि हूती विद्रोहियों ने तीन बैलिस्टिक मिसाइल और बम से लदे ड्रोन से हमला किया था। हमले का अलर्ट नागरिकों को पहले ही दे दिया गया था। हमले के लिए तेल के भंडार वाले पूर्वी इलाकों और दक्षिण में जाज़न और नजरान शहर को निशाना बनाया गया।

सऊदी अरब पर पहले भी हो चुके है हमले
पूर्वी सऊदी में तेल का भंडार है और पहले भी कई बार इसे निशाना बना जा चुका है। सितंबर 2019 मे दो अरामको प्लांट पर हुए हमले ने तेल के प्रोडक्शन को अस्थायी रूप से बंद कर दिया था। हूती विद्रोहियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। इस मामले से जुड़े सूत्र ने बताया की हमला अरामको के बाहर हुआ और कंपनी के प्लांट को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

सऊदी अरब पर हमले की क्या है वजह
यमन की राजधानी सना पर 2015 मे हूती विद्रोहियों ने कब्ज़ा कर लिया था और उसे ईरान का सपोर्ट मिला हुआ था। सऊदी अरब यमन की पूर्व सरकार का समर्थन कर रहा है और सऊदी के नेतृत्व वाली सेना हूती के खिलाफ लड़ रही है। हूती विद्रोही यमन के मारिब शहर को कब्जाना चाहते हैं। इसके चलते पिछले कुछ महीनों में हूती ज्यदा आक्रामक हो गए हैं। सऊदी पर भी इसीलिए हमले किए जा रहे हैं। पिछले मंगलवार को एक बम लदा ड्रोन सऊदी के आभा एयरपोर्ट पर जाकर गिरा। हमले में 8 लोग घायल हुए और एक सिविलियन प्लेन को नुकसान पहुंचा।

खबरें और भी हैं...