• Hindi News
  • International
  • Saudi Arabia Will Invite Tourists Again In Alaula, After Passing Of Kovid, Indian People Will Easily Get Saudi Arab Visa

सैलानियों को आमंत्रण:सऊदी अरब अलाउला में फिर से टूरिस्टों को आमंत्रित करेगा, कोविड का दौर बीतने के बाद भारतीय लोगों को आसानी से मिलेगा सऊदी अरब का वीजा

चंडीगढ़6 महीने पहलेलेखक: गुलशन कुमार
  • कॉपी लिंक
यहां प्राचीन नाबेटियन किंगडम के प्रमुख शहर हेगरा के साथ ही कई अन्य स्थल भी हैं। - Dainik Bhaskar
यहां प्राचीन नाबेटियन किंगडम के प्रमुख शहर हेगरा के साथ ही कई अन्य स्थल भी हैं।

सऊदी अरब अपने सदियों पुराने शहर अलाउला में फिर से सैलानियों को आमंत्रित कर रहा है। रॉयल कमीशन फॉर अलाउला (आरसीयू) ने अलाउला की प्राचीन विरासत को निहारने और एक अलग अनुभव को प्राप्त करने के लिए भारतीय पर्यटकों को आमंत्रित किया है। कोविड संबंधी पाबंदियां समाप्त होने के बाद भारतीय टूरिस्ट आसानी से अलाउला जा सकेंगे। यूएस, यूके, शेनेगन आदि का वीजा रखने वाले भारतीय वीजा ऑन अराइवल और अन्य तय प्रक्रिया से वीजा प्राप्त कर अलाउला, सऊदी अरब जा सकेंगे।

इस बारे में आरसीयू की एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर, डेस्टिनेशन मार्केटिंग मेलिनी डी-सूजा ने बताया कि अलाउला सऊदी अरब के प्राचीन क्षेत्रों में से एक हैं, जिनमें हजारों साल पुराने मकबरे और अन्य हेरिटेज साइट्स हैं। इन सभी को नए अंदाज में पूरे विश्व के सामने प्रस्तुत किया गया है। मेलिनी ने बताया कि सऊदी अरब को प्रमुख तौर पर धार्मिक पर्यटन के तौर पर देखा जाता है लेकिन अब वहां पर अन्य साइट्स को भी खोला जा रहा है।

मैलिनी ने बताया कि अलाउला एक लिविंग म्यूजियम हैं जो कि 2 लाख सालों के प्रतीक समेटे हुए है। यहां पर प्रकृति से लेकर मानव निर्मित स्थल हैं। साल 2017 से इन साइट्स को संरक्षित किया जा रहा है और टूरिस्ट्स के लिए मूलभूत सुविधाओं को जुटाया जा रहा है। संरक्षण और स्मारकों और साइटों की बहाली के लिए यूनेस्को के निर्देशों के अनुसार हेरिटेज ट्रीटमेंट तकनीकों का उपयोग किया जा रहा है।

यहां पर दुनिया की सबसे अधिक शीशों से जड़े ऑडिटोरियम मिराया को भी बनाया गया है। अलाउला में पुरातत्व के क्षेत्र में दशकों का अनुभव रखने वाली डॉ.रेबेका फुटे भी काम कर रही हैं और लगातार नई साइट्स को सामने ला रही हैं। उनकी खुदाई परियोजनाओं में पुरातत्व महत्व की काफी प्राचीन कलाकृतियां, औजार और दैनिक उपयोग का सामान भी प्राप्त हुआ है।

आरसीयू ने भारत में अपने प्रतिनिधियों हुजैन फ्रेजर और बीना मेनन को भी नियुक्त किया है। हुजैन फ्रेजर ने बताया कि हम अलाउला को भारतीय ट्रैवलर्स के समक्ष एक नए और अलग डेस्टिनेशन के तौर पर पेश करेंगे। यहां पर प्राचीन नाबेटियन किंगडम के प्रमुख शहर हेगरा के साथ ही कई अन्य स्थल भी हैं।

मोहम्मद बिन सलमान का ड्रीम प्रोजेक्ट है अलाउला

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने किंगडम के मदीना क्षेत्र में “द जर्नी थ्रू टाइम” प्रोजेक्ट के तहत ऐतिहासिक शहर अलाउला को विकसित करने के लिए एक मास्टर प्लान लॉन्च किया है। क्राउन प्रिंस के नेतृत्व और आरसीयू के संस्कृति मंत्री और सऊदी के गवर्नर प्रिंस बद्र के मार्गदर्शन में जर्नी थ्रू टाइम मास्टर प्लान विकसित किया गया था। इस प्रोजेक्ट में संस्कृति, विरासत, प्रकृति और समुदाय को एक साथ लाया गया है। ये प्रोजेक्ट सऊदी अरब के विजन 2030 के तहत एक महत्वपूर्ण कदम है।

खबरें और भी हैं...