• Hindi News
  • International
  • Pakistans News Updates | Woman Died After Security Guard Performed Surgery In Lahore Hospital

इमरान का नया पाकिस्तान:लाहौर में सिक्योरिटी गार्ड ने महिला की सर्जरी की, मौत; मैनेजमेंट बोला- सब पर नजर रखना नामुमकिन

लाहौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लाहौर में मेयो सबसे बड़ा सरकारी हॉस्पिटल है। (फाइल) - Dainik Bhaskar
लाहौर में मेयो सबसे बड़ा सरकारी हॉस्पिटल है। (फाइल)

इमरान खान नया पाकिस्तान बनाने का दावा करते हैं, लेकिन वहां आम अवाम के क्या हाल हैं? इसकी एक कड़वी हकीकत सामने आई है। लाहौर के सबसे बड़े सरकारी हॉस्पिटल में एक सिक्योरिटी गार्ड ने महिला की सर्जरी की। कुछ ही घंटे बाद इस महिला की मौत हो गई। जब मामला सामने आया तो भी मैनेजमेंट जिम्मेदारी लेने तैयार नहीं हुआ। मैनेजमेंट ने कहा- इतना बड़ा हॉस्पिटल है, यहां किस-किस पर नजर रखी जाए। ये तो नामुमकिन जैसा है।

पीठ में परेशानी थी
पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, महिला की उम्र 80 साल थी और उसका नाम शमीमा बेगम था। कुछ दिनों पहले महिला को पीठ में दर्द के चलते लाहौर के मेयो हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। इसी दौरान हॉस्पिटल के एक गार्ड ने इस बुजुर्ग महिला की पीठ की सर्जरी की। आरोपी का नाम मोहम्मद वहीद बट है। उसने महिला के सामने खुद को डॉक्टर बताया था। हैरानी की बात है कि इस दौरान वहीद ने ऑपरेशन थिएटर और वहां के मेडिकल इक्युपमेंट्स का भी इस्तेमाल किया।

ऐसे सामने आई हकीकत
नियम के मुताबिक, शमीमा के परिवार ने हॉस्पिटल को सर्जरी का बिल भी चुकाया। इतना ही नहीं बाद में वहीद महिला के घर गया और उसकी ड्रेसिंग भी की। लेकिन, जब ब्लीडिंग और दर्द असहनीय हो गया तो परिवार उन्हें फिर हॉस्पिटल लेकर आया। यहां आने के बाद उन्हें सच्चाई पता लगी। रविवार को महिला की मौत हो गई। अब ऑटोप्सी के जरिए यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि मौत की असली वजह क्या थी।

आरोपी गिरफ्तार, पर कई सवाल बाकी
लाहौर पुलिस ने न्यूज एजेंसी से कहा- आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, लेकिन हॉस्पिटल मैनेजमेंट से कई सवाल किए जाने बाकी हैं। आखिर, सिक्योरिटी गार्ड डॉक्टर बनकर घूमता रहा तो क्या किसी ने उसे पहचाना नहीं। वो ऑपरेशन थिएटर में कैसे चला गया।

दूसरी तरफ, हॉस्पिटल मैनेजमेंट ने कहा- ये बहुत बड़ा हॉस्पिटल है। हजारों मरीजों का इलाज होता है। स्टाफ भी बहुत ज्यादा है। ऐसे में यह पता लगाना बहुत मुश्किल है कि कौन गार्ड है और कौन डॉक्टर। आरोपी गार्ड को दो साल पहले ही यहां से निकाला जा चुका था। उस पर मरीजों से पैसे उगाही का आरोप था।

खबरें और भी हैं...