शिंजो आबे का राजकीय अंतिम संस्कार:PM मोदी और जापान की रॉयल फैमिली ने श्रद्धांजलि दी; मोदी दिल्ली रवाना

टोक्यो2 महीने पहले

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे का स्टेट फ्यूनरल कार्यक्रम टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन कम्युनिटी सेंटर में किया गया। यहां भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत 700 से ज्यादा वर्ल्ड लीडर ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके बाद नेशनल एंथम हुआ और आबे को 19 तोपों की सलामी दी गई। आबे की याद में 2 मिनट का मौन भी रखा गया।

शिंजो आबे की 8 जुलाई को गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद पारिवारिक तौर पर शिंजो का अंतिम संस्कार 15 जुलाई को कर दिया गया था। लिहाजा, आज जो स्टेट फ्यूनरल हुआ वो प्रतीकात्मक था। इस फ्यूनरल का लोग अब भी विरोध कर रहे हैं। निप्पॉन बुडोकन के बाहर लोगों का प्रदर्शन जारी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिजों आबे को फ्लोरल ट्रिब्यूट दिया। PM नरेंद्र मोदी ने आबे के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया था।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिजों आबे को फ्लोरल ट्रिब्यूट दिया। PM नरेंद्र मोदी ने आबे के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया था।
शिंजो आबे का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया। इस दौरान 19 तोपों की सलामी दी गई।
शिंजो आबे का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया। इस दौरान 19 तोपों की सलामी दी गई।

शाही परिवार ने श्रद्धांजलि दी
स्टेट फ्यूनरल कार्यक्रम में जापान की रॉयल फैमिली भी मौजूद रही। जापान की परंपरा के मुताबिक, किंग नारुहितो, क्वीन मासाको, किंग एमेरिटस अकिहितो और क्वीन एमेरिटा मिचिको ने कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया। इसलिए क्राउन प्रिंस अकिशिनो उनकी पत्नी क्राउन प्रिंसेस किको और शाही परिवार के अन्य सदस्यों ने आबे को श्रद्धांजलि दी।

क्राउन प्रिंस अकिशिनो उनकी पत्नी क्राउन प्रिंसेस किको और शाही परिवार के अन्य सदस्यों ने आबे को श्रद्धांजलि दी।
क्राउन प्रिंस अकिशिनो उनकी पत्नी क्राउन प्रिंसेस किको और शाही परिवार के अन्य सदस्यों ने आबे को श्रद्धांजलि दी।

आबे की पत्नी अस्थियां लेकर पहुंची थीं
भारतीय समय के मुताबिक, स्टेट फ्यूनरल का कार्यक्रम आज यानी 27 सितंबर को सुबह 10:30 बजे शुरू हुआ। ये करीब डेढ़ घंटे चला। कार्यक्रम की शुरुआत में शिंजो आबे की पत्नी अकी आबे उनकी अस्थियां लेकर पहुंचीं। यहां अमेरिका की उप राष्ट्रपति कमला हैरिस, सिंगापुर के PM ली सीन लूंग, ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज, वियतनामी राष्ट्रपति गुयेन जुआन फुक, दक्षिण कोरिया के प्रधानमंत्री हान डक-सू, फिलीपींस की उपराष्ट्रपति सारा डुटर्टे-कार्पियो, इंडोनेशिया के राष्ट्रपति मारुफ अमीन, यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल समेत 700 प्रतिनिधियों ने आबे को श्रद्धांजलि दी।

शिंजो आबे की पत्नी अकी आबे अस्थियों का कलश लेकर टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन कम्युनिटी सेंटर पहुंची थीं।
शिंजो आबे की पत्नी अकी आबे अस्थियों का कलश लेकर टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन कम्युनिटी सेंटर पहुंची थीं।
राजकीय अंतिम संस्कार में करीब 4,500 लोग मौजूद रहे। इनमें 217 देशों के प्रतिनिधि भी शामिल थे। चीन और रूस के राष्ट्रपति ने इस कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया।
राजकीय अंतिम संस्कार में करीब 4,500 लोग मौजूद रहे। इनमें 217 देशों के प्रतिनिधि भी शामिल थे। चीन और रूस के राष्ट्रपति ने इस कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया।
राजकीय अंतिम संस्कार के लिए निप्पॉन बुडोकन में आबे की अस्थियों का कलश और फोटो रखी गई। यहां स्टेट गेस्ट्स ने फूल रखकर श्रद्धांजलि दी।
राजकीय अंतिम संस्कार के लिए निप्पॉन बुडोकन में आबे की अस्थियों का कलश और फोटो रखी गई। यहां स्टेट गेस्ट्स ने फूल रखकर श्रद्धांजलि दी।

स्टेट फ्यूनरल का जापान में विरोध

टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन कम्युनिटी सेंटर के बाहर लोग पोस्टर और बैनर लेकर स्टेट फ्यूनरल का विरोध कर रहे हैं।
टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन कम्युनिटी सेंटर के बाहर लोग पोस्टर और बैनर लेकर स्टेट फ्यूनरल का विरोध कर रहे हैं।
निप्पॉन बुडोकन और आस-पास के इलाकों में विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।
निप्पॉन बुडोकन और आस-पास के इलाकों में विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

शिंजो की प्रतीकात्मक विदाई में सरकार खर्च कर रही है, अमूमन जापान में रॉयल फैमिली और प्रधानमंत्रियों का अंतिम संस्कार सरकारी खर्च पर नहीं किया जाता। ये परंपरा है। सभी फ्यूनरल फंक्शन पारिवारिक लोग करते हैं। आबे का राजकीय अंतिम संस्कार सरकार कर रही है। प्रतीकात्मक अंतिम विदाई समारोह पर करीब 97 करोड़ रुपए खर्चा हुआ है। यही वजह है कि इसका विरोध हो रहा है। विपक्ष और आम जनता को लगता है कि सरकार के खर्च पर आबे का अंतिम संस्कार पैसे की बर्बादी है।

जापान के PM फुमियो किशिदा से मिले मोदी
स्टेट फ्यूनरल सेरेमनी से पहले PM मोदी ने जापान के PM फुमियो किशिदा से मुलाकात की। इस दौरान दोनों देशों के रिश्तों को मजबूती देने के लेकर चर्चा हुई। मुलाकात के बाद मोदी वापस भारत रवाना हो गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापानी PM फुमियो किशिदा से मिलकर जापान के पूर्व प्रधानमंत्री के निधन पर शोक जताया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापानी PM फुमियो किशिदा से मिलकर जापान के पूर्व प्रधानमंत्री के निधन पर शोक जताया।
पीएम मोदी ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज के साथ निप्पॉन बुडोकन कम्युनिटी सेंटर पहुंचे थे।
पीएम मोदी ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज के साथ निप्पॉन बुडोकन कम्युनिटी सेंटर पहुंचे थे।
जापान दौरा पूरा कर PM मोदी वापस दिल्ली रवाना हो गए।
जापान दौरा पूरा कर PM मोदी वापस दिल्ली रवाना हो गए।

जापान के आम लोग भी पूर्व PM आबे को श्रद्धांजलि देंगे
हजारों की संख्या में लोग आबे को श्रद्धांजलि देने निप्पॉन बुडोकन पहुंचें। करीब डेढ़ किलोमीटर लंबी लाइन देखने को मिली। लोगों को यहां अंदर तो नहीं आने दिया गया लेकिन निप्पॉन बुडोकन से 100 मीटर दूर बने कुदनजाका पार्क में फ्लावर स्टैंड्स रखा गया है, जहां लोग श्रद्धांजलि दे सकते हैं।

आम लोगों के लिए आबे को श्रद्धांजलि देने सुबह 10 से शाम 4 बजे तक का समय रखा गया है।
आम लोगों के लिए आबे को श्रद्धांजलि देने सुबह 10 से शाम 4 बजे तक का समय रखा गया है।

दूसरी बार जापान में हो रहा स्टेट फ्यूनरल

अक्टूबर 1967 में टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन हॉल में पूर्व प्रधानमंत्री शिगेरू योशिदा का राजकीय अंतिम संस्कार हुआ था।
अक्टूबर 1967 में टोक्यो के निप्पॉन बुडोकन हॉल में पूर्व प्रधानमंत्री शिगेरू योशिदा का राजकीय अंतिम संस्कार हुआ था।

वर्ल्ड वॉर II के बाद जापान में दूसरी बार किसी प्रधानमंत्री का स्टेट फ्यूनरल हो रहा है। इससे पहले, 1967 में शिगेरु योशिदा के लिए स्टेट फ्यूनरल हुआ था। इसके अलावा सभी प्रधानमंत्री का रेगुलर प्रोटोकॉल के तहत ही फ्यूनरल हुआ है। आबे की हत्या के बाद नई पुलिस सिक्योरिटी गाइडलाइंस जारी की गई थी। इसके बाद टोक्यो में सुरक्षा बढ़ा दी गई। गाइडलाइन आने के बाद से जापान में पहली बार बड़े स्तर का सार्वजनिक कार्यक्रम होगा।

शिंजो आबे से जुड़ी ये खबरें जरूर पढ़ें...

जापान के पूर्व PM आबे की हत्या, इलेक्शन कैंपेन में पूर्व सैनिक ने पीछे से गोली मारी; 6 घंटे बाद निधन

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आबे नारा शहर में इलेक्शन कैंपेन के दौरान स्पीच दे रहे थे। 42 साल के हमलावर ने पीछे से फायरिंग की। आरोपी को मौके पर गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी का नाम यामागामी तेत्सुया था और वो आबे की नीतियों से नाखुश था। पढ़ें पूरी खबर...

शिंजो के नाना को चीनी आज भी पुकारते हैं शैतान:पिता थे जापानी सेना के आत्मघाती पायलट

शिंजो सबसे लंबे वक्त तक जापान के प्रधानमंत्री रहे, लेकिन उनकी शख्सियत सिर्फ इतनी भर नहीं है। हम यहां शिंजे की पर्सनैलिटी के 3 शेड्स को 6 कहानियों के जरिए दिखा रहे हैं। पढ़ें पूरी खबर...

आबे की मौत पर भारत में शोक, चीन में जश्न; चीन को खुलकर धमकाते थे शिंजो

चीन में आबे की मौत पर जश्न मनाया गया। चीनी सोशल मीडिया में वहां के लोगों ने कमेंट्स किए। एक चीनी यूजर ने शिंजो के हमलावर को 'हीरो' बताते हुए जापानी PM की मौत की कामना की। पढ़ें पूरी खबर...

शिंजो के स्टेट फ्यूनरल पर 97 करोड़ रुपए खर्च, US में हुई थी सबसे महंगी अंतिम विदाई

शिंजो आबे के स्टेट फ्यूनरल पर करीब 97 करोड़ रुपए खर्च हुए। टैक्सपेयर्स के पैसे से अंतिम संस्कार का काफी विरोध हो रहा है। ये पहली बार नहीं है जब फ्यूनरल पर इतना ज्यादा खर्चा हुआ हो। यहां पढ़ें दुनिया के सबसे महंगे फ्यूनरल्स के बारे में...